Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Jul 2023 · 1 min read

मेरी रातों की नींद क्यों चुराते हो

पता नही तुम याद क्यो आते हो,
मेरी रातों की नींद क्यों चुराते हो।
सोती नही हूं रात में तब तक मैं,
जब तक मेरे पास नही आते हो।।

जब जब फूलो को सूंघा मैने,
तुम्हारी ही खुश्बू उनमें आई।
उनको गजरे में लगाया मैने,
बस तुम्हारी याद मुझे आई।।

जब जब कभी बादल ने बूंदे,
मेरे तन और मन में बरसाई।
मिली जो तन मन को ठंडक,
बस तुम्हारी याद मुझे आई।।

जब जब पुरवा हवा है चली,
मेरे तन को वह छूकर चली।
दिया था संदेशा उसने मुझे,
सुनकर तुम्हारी ही याद आई।।

जब जब तन्हा मै कभी होती,
तुम्हारी यादें मुझे है घेर लेती।
खोकर तुम्हारी यादों में मैने,
तुम्हारी ही अनुभूति मैने पाई।।

पता नही ये सब कुछ क्यों होता,
तुम्हारा चेहरा सामने क्यो होता।
जानकर भी अनजान मै क्यू हूं,
शायद ऐसे में ये सब कुछ होता।।

आर के रस्तोगी गुरुग्राम

Language: Hindi
4 Likes · 9 Comments · 710 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ram Krishan Rastogi
View all
You may also like:
प्रणय
प्रणय
Neelam Sharma
*
*"गौतम बुद्ध"*
Shashi kala vyas
छुड़ा नहीं सकती मुझसे दामन कभी तू
छुड़ा नहीं सकती मुझसे दामन कभी तू
gurudeenverma198
बैठाया था जब अपने आंचल में उसने।
बैठाया था जब अपने आंचल में उसने।
Phool gufran
।।अथ श्री सत्यनारायण कथा तृतीय अध्याय।।
।।अथ श्री सत्यनारायण कथा तृतीय अध्याय।।
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
फादर्स डे
फादर्स डे
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मौन अधर होंगे
मौन अधर होंगे
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
कड़वा सच~
कड़वा सच~
दिनेश एल० "जैहिंद"
कोई हंस रहा है कोई रो रहा है 【निर्गुण भजन】
कोई हंस रहा है कोई रो रहा है 【निर्गुण भजन】
Khaimsingh Saini
◆ आज का दोहा।
◆ आज का दोहा।
*प्रणय प्रभात*
घर आये हुये मेहमान का अनादर कभी ना करना.......
घर आये हुये मेहमान का अनादर कभी ना करना.......
shabina. Naaz
नशा नाश की गैल हैं ।।
नशा नाश की गैल हैं ।।
Dr. Akhilesh Baghel "Akhil"
प्रयास
प्रयास
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
आए हैं फिर चुनाव कहो राम राम जी।
आए हैं फिर चुनाव कहो राम राम जी।
सत्य कुमार प्रेमी
सुंदरता विचारों व चरित्र में होनी चाहिए,
सुंदरता विचारों व चरित्र में होनी चाहिए,
Ranjeet kumar patre
स्त्रियां, स्त्रियों को डस लेती हैं
स्त्रियां, स्त्रियों को डस लेती हैं
पूर्वार्थ
2671.*पूर्णिका*
2671.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
इश्क़ का मौसम रूठने मनाने का नहीं होता,
इश्क़ का मौसम रूठने मनाने का नहीं होता,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
*अद्‌भुत है अनमोल देह, इसकी कीमत पह‌चानो(गीत)*
*अद्‌भुत है अनमोल देह, इसकी कीमत पह‌चानो(गीत)*
Ravi Prakash
Ye ayina tumhari khubsoorti nhi niharta,
Ye ayina tumhari khubsoorti nhi niharta,
Sakshi Tripathi
उस चाँद की तलाश में
उस चाँद की तलाश में
Diwakar Mahto
Only attraction
Only attraction
Bidyadhar Mantry
जब जब तुझे पुकारा तू मेरे करीब हाजिर था,
जब जब तुझे पुकारा तू मेरे करीब हाजिर था,
Sukoon
ऋतु बसंत
ऋतु बसंत
Karuna Goswami
अपना पीछा करते करते
अपना पीछा करते करते
Sangeeta Beniwal
రామ భజే శ్రీ కృష్ణ భజే
రామ భజే శ్రీ కృష్ణ భజే
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
* शक्ति स्वरूपा *
* शक्ति स्वरूपा *
surenderpal vaidya
अजनबी
अजनबी
Shyam Sundar Subramanian
बुंदेली दोहा-नदारौ
बुंदेली दोहा-नदारौ
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
Loading...