Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 May 2024 · 1 min read

मेरी घरवाली

मेरी घरवाली
दुनिया भर में नई निराली आंख मूंद कर देखी भाली
मेरी घरवाली…
ब्यूटी पार्लर वाला भभका,
देखा देखी मैं मन अटका
सूंघ सांघकर यह हीरामन
पिंजड़े में ही चहका फुदका
उसे ब्याहने की रो में फिर
चका चौंध बारात निकाली
मेरी घरवाली…
हंसी-खुशी में गाल फूलाती,
फिर मैंने में आंख दिखाती
करवाचौथ पुजे मैके में,
दुनिया मेरी हंसी उड़ाती
शादी करके मैं भर पाया
मैडम उजाले मां की काली
मेरी घरवाली….
: राकेश देवडे़ बिरसावादी

Language: Hindi
27 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
नाम बनाने के लिए कभी-कभी
नाम बनाने के लिए कभी-कभी
शेखर सिंह
मैं भी कोई प्रीत करूँ....!
मैं भी कोई प्रीत करूँ....!
singh kunwar sarvendra vikram
दोस्ती
दोस्ती
राजेश बन्छोर
सिर्फ व्यवहारिक तौर पर निभाये गए
सिर्फ व्यवहारिक तौर पर निभाये गए
Ragini Kumari
इंसान इंसानियत को निगल गया है
इंसान इंसानियत को निगल गया है
Bhupendra Rawat
आदि ब्रह्म है राम
आदि ब्रह्म है राम
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
🌸*पगडंडी *🌸
🌸*पगडंडी *🌸
Mahima shukla
शायरी - संदीप ठाकुर
शायरी - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
"कवि के हृदय में"
Dr. Kishan tandon kranti
Mushaakil musaddas saalim
Mushaakil musaddas saalim
sushil yadav
तेरा फिक्र
तेरा फिक्र
Basant Bhagawan Roy
भज ले भजन
भज ले भजन
Ghanshyam Poddar
I want to tell you something–
I want to tell you something–
पूर्वार्थ
खद्योत हैं
खद्योत हैं
Sanjay ' शून्य'
सब्जियां सर्दियों में
सब्जियां सर्दियों में
Manu Vashistha
विपरीत परिस्थिति को चुनौती मान कर
विपरीत परिस्थिति को चुनौती मान कर
Paras Nath Jha
बाल कविता: तोता
बाल कविता: तोता
Rajesh Kumar Arjun
■ताज़ा शोध■
■ताज़ा शोध■
*प्रणय प्रभात*
*नेता बेचारा फॅंसा, कभी जेल है बेल (कुंडलिया)*
*नेता बेचारा फॅंसा, कभी जेल है बेल (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
2506.पूर्णिका
2506.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
मेरा अभिमान
मेरा अभिमान
Aman Sinha
दीवानगी
दीवानगी
Shyam Sundar Subramanian
मौसम मौसम बदल गया
मौसम मौसम बदल गया
The_dk_poetry
माँ तुम याद आती है
माँ तुम याद आती है
Pratibha Pandey
स्त्रियाँ
स्त्रियाँ
Shweta Soni
क्षणिका
क्षणिका
sushil sarna
रिश्ते
रिश्ते
Punam Pande
तअलीम से ग़ाफ़िल
तअलीम से ग़ाफ़िल
Dr fauzia Naseem shad
ख़्वाब ख़्वाब ही रह गया,
ख़्वाब ख़्वाब ही रह गया,
अजहर अली (An Explorer of Life)
पर्वत 🏔️⛰️
पर्वत 🏔️⛰️
डॉ० रोहित कौशिक
Loading...