Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 May 2024 · 1 min read

मुलभुत प्रश्न

मुलभुत प्रश्न

ना बताओं रहस्यात्मक चमत्कार विचार
ना फैलाओं कटुता , व्देष संकीर्णता विकार

ना उलझाओं मुख्य मुलभुत समस्याओं को
ना फैलाओं नदारद झुठी अफवाहों को

हर एक का प्रश्न हैं , उसे ना दबाना हैं
उसे हल करना हैं , वहीं सच्ची मानवता हैं

सारे जहान , रवि , राकेश पर विजय प्राप्त करलो ।
करों चहुँ और कल्याणकारी विकास ,
रहेंगे सदाबहार नायक
000
– राजू गजभिये

Language: Hindi
36 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
अब किसका है तुमको इंतजार
अब किसका है तुमको इंतजार
gurudeenverma198
Struggle to conserve natural resources
Struggle to conserve natural resources
Desert fellow Rakesh
जिनसे जिंदा हो,उनको कतल न करो
जिनसे जिंदा हो,उनको कतल न करो
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*जो कहता है कहने दो*
*जो कहता है कहने दो*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
छाऊ मे सभी को खड़ा होना है
छाऊ मे सभी को खड़ा होना है
शेखर सिंह
रामबाण
रामबाण
Pratibha Pandey
हमें जीना सिखा रहे थे।
हमें जीना सिखा रहे थे।
Buddha Prakash
2818. *पूर्णिका*
2818. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
सुविचार
सुविचार
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
🌷🌷  *
🌷🌷 *"स्कंदमाता"*🌷🌷
Shashi kala vyas
"सच का टुकड़ा"
Dr. Kishan tandon kranti
International Chess Day
International Chess Day
Tushar Jagawat
आगे बढ़ने दे नहीं,
आगे बढ़ने दे नहीं,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ग़ज़ल (मिलोगे जब कभी मुझसे...)
ग़ज़ल (मिलोगे जब कभी मुझसे...)
डॉक्टर रागिनी
सम्मान गुरु का कीजिए
सम्मान गुरु का कीजिए
Harminder Kaur
बाज़ार से कोई भी चीज़
बाज़ार से कोई भी चीज़
*प्रणय प्रभात*
मुझे पतझड़ों की कहानियाँ,
मुझे पतझड़ों की कहानियाँ,
Dr Tabassum Jahan
इतनी उम्मीदें
इतनी उम्मीदें
Dr fauzia Naseem shad
ये जंग जो कर्बला में बादे रसूल थी
ये जंग जो कर्बला में बादे रसूल थी
shabina. Naaz
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
रफ्ता रफ्ता हमने जीने की तलब हासिल की
रफ्ता रफ्ता हमने जीने की तलब हासिल की
कवि दीपक बवेजा
हाइकु - 1
हाइकु - 1
Sandeep Pande
*नल (बाल कविता)*
*नल (बाल कविता)*
Ravi Prakash
कभी किसी की सुंदरता से प्रभावीत होकर खुद को उसके लिए समर्पित
कभी किसी की सुंदरता से प्रभावीत होकर खुद को उसके लिए समर्पित
Rituraj shivem verma
मतदान करो
मतदान करो
TARAN VERMA
बख्श मुझको रहमत वो अंदाज मिल जाए
बख्श मुझको रहमत वो अंदाज मिल जाए
VINOD CHAUHAN
मंजिल
मंजिल
Dr. Pradeep Kumar Sharma
" बिछड़े हुए प्यार की कहानी"
Pushpraj Anant
* यौवन पचास का, दिल पंद्रेह का *
* यौवन पचास का, दिल पंद्रेह का *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
आशा
आशा
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
Loading...