Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Feb 2023 · 1 min read

मुफलिसों को जो भी हॅंसा पाया।

गज़ल

2122………1212………22
मुफलिसों को जो भी हॅंसा पाया।
समझो उसने के बस खुदा पाया।

प्यार कर के भी पा लिए ईश्वर,
दिल जो मां बाप से लगा पाया।

रोज़ मिलना गले लगाना क्या,
दिल से दिल जो नहीं मिला पाया।

उन पे एतबार क्या करें यारो
जिनसे हमने सदा दगा पाया।

धन ओ दौलत के पीछे भागा जो,
गीत खुशियों के कब वो गा पाया।

कर्ज कितने चुका रहा इंसा,
देश का कर्ज कब चुका पाया।

दिल वो दरिया है डूबते प्रेमी,
आज तक कौन पार जा पाया।

……..✍️ सत्य कुमार प्रेमी

1 Like · 2 Comments · 153 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from सत्य कुमार प्रेमी
View all
You may also like:
SAARC Summit to be held in Nepal on 05 May, dignitaries to be honoured
SAARC Summit to be held in Nepal on 05 May, dignitaries to be honoured
World News
Holding onto someone who doesn't want to stay is the worst h
Holding onto someone who doesn't want to stay is the worst h
पूर्वार्थ
मुक्तक
मुक्तक
Neelofar Khan
उन व्यक्तियों का ही नाम
उन व्यक्तियों का ही नाम
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
*रद्दी अगले दिन हुआ, मूल्यवान अखबार (कुंडलिया)*
*रद्दी अगले दिन हुआ, मूल्यवान अखबार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
बचपन जी लेने दो
बचपन जी लेने दो
Dr.Pratibha Prakash
"मैं आग हूँ"
Dr. Kishan tandon kranti
Compromisation is a good umbrella but it is a poor roof.
Compromisation is a good umbrella but it is a poor roof.
GOVIND UIKEY
प्रेम का प्रदर्शन, प्रेम का अपमान है...!
प्रेम का प्रदर्शन, प्रेम का अपमान है...!
Aarti sirsat
कांतिमय यौवन की छाया
कांतिमय यौवन की छाया
Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
*बांहों की हिरासत का हकदार है समझा*
*बांहों की हिरासत का हकदार है समझा*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
लक्ष्य जितना बड़ा होगा उपलब्धि भी उतनी बड़ी होगी।
लक्ष्य जितना बड़ा होगा उपलब्धि भी उतनी बड़ी होगी।
Paras Nath Jha
शायद आकर चले गए तुम
शायद आकर चले गए तुम
Ajay Kumar Vimal
साकार आकार
साकार आकार
Dr. Rajeev Jain
कहते हैं लोग
कहते हैं लोग
हिमांशु Kulshrestha
विनाश नहीं करती जिन्दगी की सकारात्मकता
विनाश नहीं करती जिन्दगी की सकारात्मकता
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
रास्तो के पार जाना है
रास्तो के पार जाना है
Vaishaligoel
जाति-धर्म में सब बटे,
जाति-धर्म में सब बटे,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
(10) मैं महासागर हूँ !
(10) मैं महासागर हूँ !
Kishore Nigam
माँ महान है
माँ महान है
Dr. Man Mohan Krishna
जिंदगी के उतार चढ़ाव में
जिंदगी के उतार चढ़ाव में
Manoj Mahato
23/131.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/131.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
इस गुज़रते साल में...कितने मनसूबे दबाये बैठे हो...!!
इस गुज़रते साल में...कितने मनसूबे दबाये बैठे हो...!!
Ravi Betulwala
ओ गौरैया,बाल गीत
ओ गौरैया,बाल गीत
Mohan Pandey
तड़के जब आँखें खुलीं, उपजा एक विचार।
तड़के जब आँखें खुलीं, उपजा एक विचार।
डॉ.सीमा अग्रवाल
आप में आपका
आप में आपका
Dr fauzia Naseem shad
खूब लगाओ डुबकियाँ,
खूब लगाओ डुबकियाँ,
sushil sarna
भोर की खामोशियां कुछ कह रही है।
भोर की खामोशियां कुछ कह रही है।
surenderpal vaidya
■ आज का शेर-
■ आज का शेर-
*प्रणय प्रभात*
ज़रूरी ना समझा
ज़रूरी ना समझा
Madhuyanka Raj
Loading...