Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Jan 2024 · 1 min read

मुद्दतों बाद फिर खुद से हुई है, मोहब्बत मुझे।

सफर तन्हाईयों का, बेइंतिहां सुकूं देता है मुझे,
कदम अपने मेरे साथ, तुम बढ़ाया ना करो।
बेहोश जज़्बातों में घुलकर, साँसें चलती हैं मेरी,
होश की छींटों से मेरे एहसास, तुम भिंगोया ना करो।
इठलाती सी वो हवा ठहरती है, खिड़कियों पर मेरी,
बेवजह गिरे पर्दों को, तुम हटाया ना करो।
वो गुमशुम चांदनी अलाव जलाये बुलाती है मुझे,
ढ़ेर लकड़ियों का यूँ हीं, तुम लगाया ना करो।
जुगनूओं ने रोशन कर रखें हैं, शामों को मेरे,
देहलीज पर मेरी दीये, तुम जलाया ना करो।
आसमां ने रंग बिखेरे है, दामन पर मेरे,
रंगरेज से मेरी चुनर, तुम रंगवाया ना करो।
बरसती हैं ओस की बूंदें, आंसुओं संग मेरे,
मेरे अश्कों में आँखें अपनी, तुम डुबाया ना करो।
बेचैनियों में हीं, चैन का सबब मिलता है मुझे,
ख़ामख़ाह अपने दिल को, तुम तड़पाया ना करो।
खुली आँखों की जायज़ सच्चाईयाँ, लुभाती है मुझे,
ख़्वाबों का तिलिस्मी बाजार, तुम लगाया ना करो।
मुद्दतों बाद फिर खुद से हुई है, मोहब्बत मुझे,
फिजाओं में अपनी मोहब्बत की अफवाह, तुम फैलाया ना करो।

82 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Manisha Manjari
View all
You may also like:
*चल रे साथी यू॰पी की सैर कर आयें*🍂
*चल रे साथी यू॰पी की सैर कर आयें*🍂
Dr. Vaishali Verma
बाबुल का आंगन
बाबुल का आंगन
Mukesh Kumar Sonkar
वरदान
वरदान
पंकज कुमार कर्ण
कुछ नया लिखना है आज
कुछ नया लिखना है आज
करन ''केसरा''
आज की हकीकत
आज की हकीकत
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
हार को तिरस्कार ना करें
हार को तिरस्कार ना करें
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
वो इश्क को हंसी मे
वो इश्क को हंसी मे
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
3436⚘ *पूर्णिका* ⚘
3436⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
सोच
सोच
Neeraj Agarwal
👺 #स्टूडियो_वाले_रणबांकुरों_की_शान_में...
👺 #स्टूडियो_वाले_रणबांकुरों_की_शान_में...
*Author प्रणय प्रभात*
"दुम"
Dr. Kishan tandon kranti
गहरा है रिश्ता
गहरा है रिश्ता
Surinder blackpen
सर्जिकल स्ट्राइक
सर्जिकल स्ट्राइक
लक्ष्मी सिंह
मैने प्रेम,मौहब्बत,नफरत और अदावत की ग़ज़ल लिखी, कुछ आशार लिखे
मैने प्रेम,मौहब्बत,नफरत और अदावत की ग़ज़ल लिखी, कुछ आशार लिखे
Bodhisatva kastooriya
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ : दैनिक रिपोर्ट*
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ : दैनिक रिपोर्ट*
Ravi Prakash
महादेव को जानना होगा
महादेव को जानना होगा
Anil chobisa
अजब-गजब नट भील से, इस जीवन के रूप
अजब-गजब नट भील से, इस जीवन के रूप
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
"चलो जी लें आज"
Radha Iyer Rads/राधा अय्यर 'कस्तूरी'
जनता हर पल बेचैन
जनता हर पल बेचैन
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
बड़ा भाई बोल रहा हूं।
बड़ा भाई बोल रहा हूं।
SATPAL CHAUHAN
लहसुन
लहसुन
आकाश महेशपुरी
हिन्दु नववर्ष
हिन्दु नववर्ष
भरत कुमार सोलंकी
राहें भी होगी यूं ही,
राहें भी होगी यूं ही,
Satish Srijan
मेरी जिंदगी सजा दे
मेरी जिंदगी सजा दे
Basant Bhagawan Roy
मेरी कलम से…
मेरी कलम से…
Anand Kumar
कसौटियों पर कसा गया व्यक्तित्व संपूर्ण होता है।
कसौटियों पर कसा गया व्यक्तित्व संपूर्ण होता है।
Neelam Sharma
जीवन : एक अद्वितीय यात्रा
जीवन : एक अद्वितीय यात्रा
Mukta Rashmi
गूँगी गुड़िया ...
गूँगी गुड़िया ...
sushil sarna
ज्ञानी मारे ज्ञान से अंग अंग भीग जाए ।
ज्ञानी मारे ज्ञान से अंग अंग भीग जाए ।
Krishna Kumar ANANT
..........लहजा........
..........लहजा........
Naushaba Suriya
Loading...