Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Apr 2022 · 1 min read

मुझको कबतक रोकोगे

मुट्ठी में कुछ सपने लेकर
भरकर जेबों में आशाएं
दिल में है अरमान यही
कुछ कर जाएं, कुछ कर जाएं ।।

सूरज सा तेज नहीं मुझमें
दीपक से जलता देखोगे
अपनी हद रोशन करने से
तुम मुझको कब तक रोकोगे ।।

मैं उस माटी का वृक्ष नहीं
जिसको नदियों ने सींचा है
बंजर माटी में पलकर मैंने
मृत्यु से जीवन खींचा है ।।

तुम हालातों की भट्टी में
जब–जब मुझको झोंकोगे
तप–तप कर सोना बनूंगा मैं
तुम मुझको कब तक रोकोगे ।।

झुक झुक कर सीधा खड़ा हुआ
फिर झुकने का अब शौक नहीं
पिता के हाथों गढ़ा हूं मैं
तुमसे मिटने का खौफ नहीं ।।

पत्थर पर लिखी इबारत हूं
कब तक शीशे से तोड़ोगे
मिटने वाला मैं नाम नहीं
तुम मुझको कब तक रोकोगे ।।

इस जग में जितने जुल्म नहीं
उतनी सहने की ताकत है
झूठों के साथ में रहकर भी
सच कहने की आदत है ।।

मैं सागर से भी गहरा हूं
तुम कितने कंकड़ फेंकोगे
चुन-चुन के आगे बढूंगा मैं
तुम कब तक मुझको रोकोगे।।

©अभिषेक पाण्डेय अभि
☎️7071745415

45 Likes · 4 Comments · 929 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
शहर के लोग
शहर के लोग
Madhuyanka Raj
शनि देव
शनि देव
Sidhartha Mishra
न्याय होता है
न्याय होता है
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
इस जमाने जंग को,
इस जमाने जंग को,
Dr. Man Mohan Krishna
अलगाव
अलगाव
अखिलेश 'अखिल'
क्रोध
क्रोध
लक्ष्मी सिंह
एकादशी
एकादशी
Shashi kala vyas
दिल तमन्ना कोई
दिल तमन्ना कोई
Dr fauzia Naseem shad
बड़ी तक़लीफ़ होती है
बड़ी तक़लीफ़ होती है
Davina Amar Thakral
मजबूर हूँ यह रस्म निभा नहीं पाऊंगा
मजबूर हूँ यह रस्म निभा नहीं पाऊंगा
gurudeenverma198
तेवरी को विवादास्पद बनाने की मुहिम +रमेशराज
तेवरी को विवादास्पद बनाने की मुहिम +रमेशराज
कवि रमेशराज
■ इकलखोरों के लिए अनमोल उपहार
■ इकलखोरों के लिए अनमोल उपहार "अकेलापन।"
*Author प्रणय प्रभात*
फिर एक बार 💓
फिर एक बार 💓
Pallavi Rani
"बचपन"
Dr. Kishan tandon kranti
मैं कौन हूं
मैं कौन हूं
प्रेमदास वसु सुरेखा
गजल
गजल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
कैसे निभाऍं उस से, कैसे करें गुज़ारा।
कैसे निभाऍं उस से, कैसे करें गुज़ारा।
सत्य कुमार प्रेमी
*अंतिम प्रणाम ..अलविदा #डॉ_अशोक_कुमार_गुप्ता* (संस्मरण)
*अंतिम प्रणाम ..अलविदा #डॉ_अशोक_कुमार_गुप्ता* (संस्मरण)
Ravi Prakash
राहें भी होगी यूं ही,
राहें भी होगी यूं ही,
Satish Srijan
राखी (कुण्डलिया)
राखी (कुण्डलिया)
नाथ सोनांचली
हमें लगा  कि वो, गए-गुजरे निकले
हमें लगा कि वो, गए-गुजरे निकले
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
किस बात का गुमान है
किस बात का गुमान है
भरत कुमार सोलंकी
आशीर्वाद
आशीर्वाद
Dr Parveen Thakur
* संस्कार *
* संस्कार *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मंजिल
मंजिल
Dr. Pradeep Kumar Sharma
दिल का रोग
दिल का रोग
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
#कुछ खामियां
#कुछ खामियां
Amulyaa Ratan
पहला प्यार सबक दे गया
पहला प्यार सबक दे गया
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
घर-घर ओमप्रकाश वाल्मीकि (स्मारिका)
घर-घर ओमप्रकाश वाल्मीकि (स्मारिका)
Dr. Narendra Valmiki
वक्त यदि गुजर जाए तो 🧭
वक्त यदि गुजर जाए तो 🧭
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
Loading...