Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Mar 18, 2022 · 1 min read

माहौल का प्रभाव

जिनका जैसा होता माहौल
लोग वैसे बन जाते जग में
हमारे इस जीवन में उत्तम
माहौल का होना अनुपेक्ष्य ।

जैसा परिवेश में रहते हम
अच्छा- बुरा कैसा भी हो !
परिस्थितियों के सम हम
वैसे ही ढल जाते भव में।

अगर किसी कारण वश हमें
रहना पड़े निकृष्ट पड़ाव में
उस मुकाम से सहेजना हमें
तब बदलेगी हमारी ये हयात ।

ठाँव ही हमारे हर सिद्धि , पूर्णता
होती है अडिग निशनी खलक में
अगर ठाँव, ठौर हमारा रहे उत्तम
तब हम उत्कृष्ट मनुज ही बनेंगे।

अच्छा- बुरा इंसान हम बन जाते
इसमें न होती हमारी कोई गलती
जैसे परिस्थितियां ढालता है हमें
वैसे ही ढल गए हम इस भव में ।

अमरेश कुमार वर्मा
जवाहर नवोदय विद्यालय बेगूसराय, बिहार

206 Views
You may also like:
धर्म बला है...?
मनोज कर्ण
मुर्गा बेचारा...
मनोज कर्ण
चलो जहाँ की रूसवाईयों से दूर चलें
VINOD KUMAR CHAUHAN
स्वर्गीय श्री पुष्पेंद्र वर्णवाल जी का एक पत्र : मधुर...
Ravi Prakash
✍️✍️ए जिंदगी✍️✍️
'अशांत' शेखर
*!* "पिता" के चरणों को नमन *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
वर्तमान से वक्त बचा लो तुम निज के निर्माण में...
AJAY AMITABH SUMAN
पिता खुशियों का द्वार है।
Taj Mohammad
✍️आरसे✍️
'अशांत' शेखर
सच्चा रिश्ता
DESH RAJ
मेरे पीछे जमाना चले ओर आगे गन-धारी दो वीर हो!
Suraj Kushwaha
★HAPPY FATHER'S DAY ★
KAMAL THAKUR
आंचल में मां के जिंदगी महफूज होती है
VINOD KUMAR CHAUHAN
" COMMUNICATION GAP AMONG FRIENDS "
DrLakshman Jha Parimal
इश्क में तन्हाईयां बहुत है।
Taj Mohammad
जिन्दगी की अहमियत।
Taj Mohammad
क्या कुछ नहीं है मेरे पास
gurudeenverma198
मजदूर की अंतर्व्यथा
Shyam Sundar Subramanian
एक नज़म [ बेकायदा ]
DR ARUN KUMAR SHASTRI
#छंद के लक्षण एवं प्रकार
आर.एस. 'प्रीतम'
मां ‌धरती
AMRESH KUMAR VERMA
जल की अहमियत
Utsav Kumar Aarya
जावेद कक्षा छः का छात्र कला के बल पर कई...
Shankar J aanjna
✍️सलं...!✍️
'अशांत' शेखर
शाश्वत सत्य की कलम से।
Manisha Manjari
✍️किस्मत ही बदल गयी✍️
'अशांत' शेखर
" सामोद वीर हनुमान जी "
Dr Meenu Poonia
धर्म निरपेक्ष चश्मा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*अंतिम प्रणाम ! डॉक्टर मीना नकवी*
Ravi Prakash
अति का अंत
AMRESH KUMAR VERMA
Loading...