Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Apr 2023 · 1 min read

“मान-सम्मान बनाए रखने का

“मान-सम्मान बनाए रखने का
सबसे सरल व सशक्त उपाय
एक बेहतर कोना तलाशो
और चुपचाप बैठे रहो।”
जय राम जी की।।

■प्रणय प्रभात■

1 Like · 382 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हालात ही है जो चुप करा देते हैं लोगों को
हालात ही है जो चुप करा देते हैं लोगों को
Ranjeet kumar patre
राजनीति का नाटक
राजनीति का नाटक
Shyam Sundar Subramanian
झूठी शान
झूठी शान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
बाल शिक्षा कविता पाठ / POET : वीरचन्द्र दास बहलोलपुरी
बाल शिक्षा कविता पाठ / POET : वीरचन्द्र दास बहलोलपुरी
Dr MusafiR BaithA
Blac is dark
Blac is dark
Neeraj Agarwal
राजनीति
राजनीति
Bodhisatva kastooriya
* मायने शहर के *
* मायने शहर के *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कबीरा यह मूर्दों का गांव
कबीरा यह मूर्दों का गांव
Shekhar Chandra Mitra
मेरे ख्वाब ।
मेरे ख्वाब ।
Sonit Parjapati
युद्ध घोष
युद्ध घोष
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
How do you want to be loved?
How do you want to be loved?
पूर्वार्थ
बज्जिका के पहिला कवि ताले राम
बज्जिका के पहिला कवि ताले राम
Udaya Narayan Singh
सत्य की खोज
सत्य की खोज
Mukesh Kumar Sonkar
Save water ! Without water !
Save water ! Without water !
Buddha Prakash
23/139.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/139.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
21-- 🌸 और वह? 🌸
21-- 🌸 और वह? 🌸
Mahima shukla
गीत।। रूमाल
गीत।। रूमाल
Shiva Awasthi
तेरी दुनिया में
तेरी दुनिया में
Dr fauzia Naseem shad
*भूकंप का मज़हब* ( 20 of 25 )
*भूकंप का मज़हब* ( 20 of 25 )
Kshma Urmila
बेशर्मी के कहकहे,
बेशर्मी के कहकहे,
sushil sarna
कारगिल दिवस पर
कारगिल दिवस पर
Harminder Kaur
#ग़ज़ल
#ग़ज़ल
*प्रणय प्रभात*
पापा मैं आप सी नही हो पाऊंगी
पापा मैं आप सी नही हो पाऊंगी
Anjana banda
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Godambari Negi
वक्त की जेबों को टटोलकर,
वक्त की जेबों को टटोलकर,
अनिल कुमार
कर
कर
Neelam Sharma
*फल (बाल कविता)*
*फल (बाल कविता)*
Ravi Prakash
"क्रूरतम अपराध"
Dr. Kishan tandon kranti
मौसम
मौसम
surenderpal vaidya
आसा.....नहीं जीना गमों के साथ अकेले में
आसा.....नहीं जीना गमों के साथ अकेले में
Deepak Baweja
Loading...