Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 May 2022 · 1 min read

कोई मंझधार में पड़ा हैं

कोई तुफान में घिरा है तो कोई मंझधार में पड़ा है
आदमी-आदमी से जाने कौनसी तकरार में पड़ा है
खुद में खो गए हैं अब सबकी अपनी ही दुनिया है
कोई इकरार कोई इसरार तो कोई प्यार में पड़ा है

किसी की जिंदगी रोशन रहती हरदम चिरागों से
कोई रोजी की जद्दोजहद के अंथकार में पड़ा है
कोई इकरार में पड़ा……….
कोई मायूस रहता है तो कोई महफ़िल सजाता है
कहीं रौनक मेहमानों की कोई इंतज़ार में खड़ा है
कोई इकरार में पड़ा ………
कहीं बंगले कहीं कोठी तो कहीं हैं झोंपड़ी देखो
कोई दौलत का वारिस तो कोई कतार में खड़ा है
कोई इकरार में पड़ा………
कहीं किस्मत के मारे हैं तो कोई बस ऐश करता हैं
कहीं”विनोद”लगता है जैसे यूंही संसार में पड़ा है
कोई इकरार में पड़ा ………

Language: Hindi
7 Likes · 2 Comments · 543 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मिलकर नज़रें निगाह से लूट लेतीं है आँखें
मिलकर नज़रें निगाह से लूट लेतीं है आँखें
Amit Pandey
आज कल कुछ इस तरह से चल रहा है,
आज कल कुछ इस तरह से चल रहा है,
kumar Deepak "Mani"
सर्वंश दानी
सर्वंश दानी
Satish Srijan
कसूर उनका नहीं मेरा ही था,
कसूर उनका नहीं मेरा ही था,
Vishal babu (vishu)
ढल गया सूरज बिना प्रस्तावना।
ढल गया सूरज बिना प्रस्तावना।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
बराबरी का दर्ज़ा
बराबरी का दर्ज़ा
Shekhar Chandra Mitra
*धारा सत्तर तीन सौ, अब अतीत का काल (कुंडलिया)*
*धारा सत्तर तीन सौ, अब अतीत का काल (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
बिहार–झारखंड की चुनिंदा दलित कविताएं (सम्पादक डा मुसाफ़िर बैठा & डा कर्मानन्द आर्य)
बिहार–झारखंड की चुनिंदा दलित कविताएं (सम्पादक डा मुसाफ़िर बैठा & डा कर्मानन्द आर्य)
Dr MusafiR BaithA
■ उल्टा सवाल ■
■ उल्टा सवाल ■
*Author प्रणय प्रभात*
पत्नी की पहचान
पत्नी की पहचान
Pratibha Pandey
जिनमें बिना किसी विरोध के अपनी गलतियों
जिनमें बिना किसी विरोध के अपनी गलतियों
Paras Nath Jha
A little hope can kill you.
A little hope can kill you.
Manisha Manjari
बारिश और उनकी यादें...
बारिश और उनकी यादें...
Falendra Sahu
*Max Towers in Sector 16B, Noida: A Premier Business Hub 9899920149*
*Max Towers in Sector 16B, Noida: A Premier Business Hub 9899920149*
Juhi Sulemani
आँखों की बरसात
आँखों की बरसात
Dr. Sunita Singh
23/178.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/178.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
ऐ जिन्दगी मैने तुम्हारा
ऐ जिन्दगी मैने तुम्हारा
पूर्वार्थ
*नशा तेरे प्यार का है छाया अब तक*
*नशा तेरे प्यार का है छाया अब तक*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
ज़िंदगी एक कहानी बनकर रह जाती है
ज़िंदगी एक कहानी बनकर रह जाती है
Bhupendra Rawat
दुम कुत्ते की कब हुई,
दुम कुत्ते की कब हुई,
sushil sarna
हमारी राष्ट्रभाषा हिन्दी
हमारी राष्ट्रभाषा हिन्दी
Mukesh Kumar Sonkar
बिखरा था बस..
बिखरा था बस..
Vijay kumar Pandey
मिली पात्रता से अधिक, पचे नहीं सौगात।
मिली पात्रता से अधिक, पचे नहीं सौगात।
डॉ.सीमा अग्रवाल
Har Ghar Tiranga
Har Ghar Tiranga
Tushar Jagawat
सारे जग को मानवता का पाठ पढ़ाकर चले गए...
सारे जग को मानवता का पाठ पढ़ाकर चले गए...
Sunil Suman
'उड़ाओ नींद के बादल खिलाओ प्यार के गुलशन
'उड़ाओ नींद के बादल खिलाओ प्यार के गुलशन
आर.एस. 'प्रीतम'
नई जगह ढूँढ लो
नई जगह ढूँढ लो
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
मकर संक्रांति
मकर संक्रांति
Seema gupta,Alwar
1. चाय
1. चाय
Rajeev Dutta
परतंत्रता की नारी
परतंत्रता की नारी
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
Loading...