Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Nov 2023 · 1 min read

भैया के माथे तिलक लगाने बहना आई दूर से

भैया के माथे तिलक लगाने बहना आई दूर से
************************************

सात समंदर पार से प्यारी बहना आई दूर से,
भैया के माथे तिलक लगाने बहना आई दूर से।

रोली चावल से थाल सजा ले हाथों में मिठाई,
हिय में है छिपा प्रेम जताने बहना आई दूर से।

सुंदर-सुंदर उपहार भी वो लाई अपने साथ में,
मधु बीती यादें याद दिलाने बहना आई दूर से।

सोना चाँदी नहीं मांगती ना मांगे उपहार कोई,
खुशियों से भरने है खजाने बहना आई दूर से।

माँ बापू के आँगन में बचपन बीता प्यारा सा,
भीनी मिट्टी की ख़ुशबू पाने बहना आई दूर से।

खुद से प्यारे भाई को छू ना पाये हवा गरमाई,
बुरी नजरें लगी वो मिटाने बहना आई दूर से।

सुख-समृद्धि भरपूर हो मंगलमय जीवन सारा,
शुभाशीष खुशहाली लाने बहना आई दूर से।

प्रीत प्रेम की डोर से बंधे बहन भाई के रिश्ते,
टूटे न वैर – विरोध में बताने बहना आई दूर से।

मनसीरत गम घर छोड़कर सुख लाई साथ में,
भैया – दूज प्रकाश फैलाने बहना आई दूर से।
***********************************
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
खेडी राओ वाली (कैथल)

206 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मोर छत्तीसगढ़ महतारी हे
मोर छत्तीसगढ़ महतारी हे
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
छप्पय छंद विधान सउदाहरण
छप्पय छंद विधान सउदाहरण
Subhash Singhai
'सरदार' पटेल
'सरदार' पटेल
Vishnu Prasad 'panchotiya'
जिन्दगी हमारी थम जाती है वहां;
जिन्दगी हमारी थम जाती है वहां;
manjula chauhan
स्वार्थ
स्वार्थ
Neeraj Agarwal
जन्मदिन की शुभकामना
जन्मदिन की शुभकामना
Satish Srijan
स्वार्थी नेता
स्वार्थी नेता
पंकज कुमार कर्ण
दर्पण
दर्पण
लक्ष्मी सिंह
ముందుకు సాగిపో..
ముందుకు సాగిపో..
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
व्यक्ति और विचार में यदि चुनना पड़े तो विचार चुनिए। पर यदि व
व्यक्ति और विचार में यदि चुनना पड़े तो विचार चुनिए। पर यदि व
Sanjay ' शून्य'
चाह ले....
चाह ले....
सिद्धार्थ गोरखपुरी
मकसद ......!
मकसद ......!
Sangeeta Beniwal
अगर तोहफ़ा देने से मुहब्बत
अगर तोहफ़ा देने से मुहब्बत
shabina. Naaz
मां कात्यायनी
मां कात्यायनी
Mukesh Kumar Sonkar
चलो
चलो
हिमांशु Kulshrestha
मेरा स्वर्ग
मेरा स्वर्ग
Dr.Priya Soni Khare
जनाब पद का नहीं किरदार का गुरुर कीजिए,
जनाब पद का नहीं किरदार का गुरुर कीजिए,
शेखर सिंह
स्मृति प्रेम की
स्मृति प्रेम की
Dr. Kishan tandon kranti
श्वान संवाद
श्वान संवाद
Shyam Sundar Subramanian
खामोश रहेंगे अभी तो हम, कुछ नहीं बोलेंगे
खामोश रहेंगे अभी तो हम, कुछ नहीं बोलेंगे
gurudeenverma198
शायद हम ज़िन्दगी के
शायद हम ज़िन्दगी के
Dr fauzia Naseem shad
हर बार मेरी ही किस्मत क्यो धोखा दे जाती हैं,
हर बार मेरी ही किस्मत क्यो धोखा दे जाती हैं,
Vishal babu (vishu)
खुशियों को समेटता इंसान
खुशियों को समेटता इंसान
Harminder Kaur
कैमरे से चेहरे का छवि (image) बनाने मे,
कैमरे से चेहरे का छवि (image) बनाने मे,
Lakhan Yadav
चंदा मामा (बाल कविता)
चंदा मामा (बाल कविता)
Dr. Kishan Karigar
औरत औकात
औरत औकात
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
जो कभी मिल ना सके ऐसी चाह मत करना।
जो कभी मिल ना सके ऐसी चाह मत करना।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
झूठा घमंड
झूठा घमंड
Shekhar Chandra Mitra
मुक्तक7
मुक्तक7
Dr Archana Gupta
आप देखिएगा...
आप देखिएगा...
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...