May 13, 2022 · 1 min read

भूले बिसरे गीत

तुम एक दिन
मेरे घर आना
मेरे घर में
चारों ओर
वो गीत बिखरे पड़ें हैं
जो बचपन में
तुमने किसी गली, कूचे से गुज़रते
रेडियो से बजते सुने थे
मैं जानता हूँ
जिनकी धीमी धीमी सुगंध
आज भी तुम्हारे ज़हन में है
तुम कभी नहीं भूले
उन भूले बिसरे गीतों को
जिन्हें मैंने तुम्हे
टूटे फूटे शब्दों में
अकसर गुनगुनाते देखा है ।

-रफ़ी अरुण गौतम
मोबाइल 9811447213

1 Like · 1 Comment · 19 Views
You may also like:
बाबा ब्याह ना देना,,,
Taj Mohammad
दुनियाँ की भीड़ में।
Taj Mohammad
सृजन कर्ता है पिता।
Taj Mohammad
रत्नों में रत्न है मेरे बापू
Nitu Sah
अब सुप्त पड़ी मन की मुरली, यह जीवन मध्य फँसा...
संजीव शुक्ल 'सचिन'
रेलगाड़ी- ट्रेनगाड़ी
Buddha Prakash
समीक्षा -'रचनाकार पत्रिका' संपादक 'संजीत सिंह यश'
Rashmi Sanjay
The Sacrifice of Ravana
Abhineet Mittal
सजना शीतल छांव हैं सजनी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
किस्मत एक ताना...
Sapna K S
*!* मेरे Idle मुन्शी प्रेमचंद *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
*!* "पिता" के चरणों को नमन *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
माँ की महिमाँ
Dr. Alpa H.
श्रम पिता का समाया
शेख़ जाफ़र खान
आखिर तुम खुश क्यों हो
Krishan Singh
इश्क में बेचैनियाँ बेताबियाँ बहुत हैं।
Taj Mohammad
💐💐प्रेम की राह पर-20💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सुनो ! हे राम ! मैं तुम्हारा परित्याग करती हूँ...
ओनिका सेतिया 'अनु '
💐💐💐न पूछो हाल मेरा तुम,मेरा दिल ही दुखाओगे💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हमने प्यार को छोड़ दिया है
VINOD KUMAR CHAUHAN
जब बेटा पिता पे सवाल उठाता हैं
Nitu Sah
मोबाइल सन्देश (दोहा)
N.ksahu0007@writer
अब तो इतवार भी
Krishan Singh
पिता
Dr. Kishan Karigar
रामपुर में काका हाथरसी नाइट
Ravi Prakash
बेपनाह गम था।
Taj Mohammad
*मेरे देश का सैनिक*
Prabhudayal Raniwal
दिल,एक छोटी माँ..!
मनोज कर्ण
पिता श्रेष्ठ है इस दुनियां में जीवन देने वाला है
सतीश मिश्र "अचूक"
मेरे हर सिम्त जो ग़म....
अश्क चिरैयाकोटी
Loading...