Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Aug 2016 · 1 min read

भूख चली पीहर

सूनी आँखों में
सपनों की
अब सौगात नहीं
चीख,
तल्खियों वाले मौसम
हैं,बरसात नहीं।

आँख मिचौली
करते करते
जीवन बीत गया
सुख-दुःख के कोरे
पन्नों पर
सावन रीत गया

द्वार देहरी
सुबह साँझ सब
लगते हैं रूठे
दिन का
थोड़ा दर्द समझती
ऐसी रात नहीं।

शून्य क्षितिज के
अर्थ लगाते
मौसम गुजर गए
बूँदों की
परिभाषा गढ़ते
बादल बिखर गए

रेत भरे
आँचल में अपने
सावन की बेटी
सूखे खेतों से कहती है
अब खैरात नहीं।

दीवारों के
कान हो गए
अवचेतन-बहरे
बात करें
किससे हम मिलकर
दर्द हुए गहरे

चीख-चीख कर
मरी पिपासा
भूख चली पीहर
प्रत्याशा हरियर होने की
पर, ज़ज़्बात नहीं।
  ***
अवनीश त्रिपाठी

Language: Hindi
Tag: गीत
3 Comments · 253 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तो क्या हुआ
तो क्या हुआ
Sûrëkhâ Rãthí
ज़िन्दगी में हमेशा खुशियों की सौगात रहे।
ज़िन्दगी में हमेशा खुशियों की सौगात रहे।
Phool gufran
जिद बापू की
जिद बापू की
Ghanshyam Poddar
कमियाॅं अपनों में नहीं
कमियाॅं अपनों में नहीं
Harminder Kaur
चुनिंदा बाल कविताएँ (बाल कविता संग्रह)
चुनिंदा बाल कविताएँ (बाल कविता संग्रह)
Dr. Pradeep Kumar Sharma
दिल एक उम्मीद
दिल एक उम्मीद
Dr fauzia Naseem shad
चैन से जिंदगी
चैन से जिंदगी
Basant Bhagawan Roy
करवा चौथ
करवा चौथ
नवीन जोशी 'नवल'
2963.*पूर्णिका*
2963.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
दोस्ती को परखे, अपने प्यार को समजे।
दोस्ती को परखे, अपने प्यार को समजे।
Anil chobisa
रावण की गर्जना व संदेश
रावण की गर्जना व संदेश
Ram Krishan Rastogi
मुझे पतझड़ों की कहानियाँ,
मुझे पतझड़ों की कहानियाँ,
Dr Tabassum Jahan
"बुद्धिमानी"
Dr. Kishan tandon kranti
हुई स्वतंत्र सोने की चिड़िया चहकी डाली -डाली।
हुई स्वतंत्र सोने की चिड़िया चहकी डाली -डाली।
Neelam Sharma
मेहनत और अभ्यास
मेहनत और अभ्यास
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
भारत और मीडिया
भारत और मीडिया
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
एक चिडियाँ पिंजरे में 
एक चिडियाँ पिंजरे में 
Punam Pande
*चंदा (बाल कविता)*
*चंदा (बाल कविता)*
Ravi Prakash
बदली-बदली सी तश्वीरें...
बदली-बदली सी तश्वीरें...
Dr Rajendra Singh kavi
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
■ आज का दोहा...
■ आज का दोहा...
*Author प्रणय प्रभात*
अधूरी मुलाकात
अधूरी मुलाकात
Neeraj Agarwal
एक सपना देखा था
एक सपना देखा था
Vansh Agarwal
💐💐तुम अपना ख़्याल रखना💐💐
💐💐तुम अपना ख़्याल रखना💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*पानी व्यर्थ न गंवाओ*
*पानी व्यर्थ न गंवाओ*
Dushyant Kumar
🚩वैराग्य
🚩वैराग्य
Pt. Brajesh Kumar Nayak
डर का घर / MUSAFIR BAITHA
डर का घर / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
सुनबऽ त हँसबऽ तू बहुते इयार
सुनबऽ त हँसबऽ तू बहुते इयार
आकाश महेशपुरी
जय श्री कृष्ण
जय श्री कृष्ण
Bodhisatva kastooriya
Dr arun कुमार शास्त्री
Dr arun कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Loading...