Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Oct 2023 · 1 min read

भारत सनातन का देश है।

भारत सनातन का देश है

भारत एक सभ्यता और संस्कृति का देश है। भारत का अर्थ है ज्ञान का प्रदेश। सनातन में धर्म और ज्ञान का प्रतीक है भारत….महान भारत।
फिर भी कुछ महानुभाव कहते है सनातन मलेरिया. डेंगू रोग है। आप विरोध करते है तो अपने प्रतिपक्ष से करिए , मगर हिन्दुओं से नही।
सनातन धर्म से नही।भारत तो हिंदु राष्ट्र है, हिंदुस्तान है। जनता में विरोध का भाव मत फैलाओ ।
भारत एक है। हिंदी और हिंदू एक है।
भारत के कोई टुकड़े नही कर सकता है। मेरा भारत महान है। कई भाषा है मगर हिंदी हमारा राष्ट्र भाषा बने यही चाह है।
जय हिंदी जय हिन्दू जय सनातन धर्म।

डॉ गुंडाल विजय कुमार
हैदराबाद, तेलंगाना

Language: Hindi
Tag: लेख
181 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
दश्त में शह्र की बुनियाद नहीं रख सकता
दश्त में शह्र की बुनियाद नहीं रख सकता
Sarfaraz Ahmed Aasee
-शेखर सिंह
-शेखर सिंह
शेखर सिंह
परम तत्व का हूँ  अनुरागी
परम तत्व का हूँ अनुरागी
AJAY AMITABH SUMAN
सच तो हम सभी होते हैं।
सच तो हम सभी होते हैं।
Neeraj Agarwal
भाव
भाव
Sanjay ' शून्य'
हिंदी दिवस की बधाई
हिंदी दिवस की बधाई
Rajni kapoor
वफा माँगी थी
वफा माँगी थी
Swami Ganganiya
यादो की चिलमन
यादो की चिलमन
Sandeep Pande
दूर देदो पास मत दो
दूर देदो पास मत दो
Ajad Mandori
गौभक्त और संकट से गुजरते गाय–बैल / मुसाफ़िर बैठा
गौभक्त और संकट से गुजरते गाय–बैल / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
क्यों दिल पे बोझ उठाकर चलते हो
क्यों दिल पे बोझ उठाकर चलते हो
VINOD CHAUHAN
रमेशराज की एक हज़ल
रमेशराज की एक हज़ल
कवि रमेशराज
23/34.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/34.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कर्नाटक के मतदाता
कर्नाटक के मतदाता
*Author प्रणय प्रभात*
माँ
माँ
Arvina
हमको तू ऐसे नहीं भूला, बसकर तू परदेश में
हमको तू ऐसे नहीं भूला, बसकर तू परदेश में
gurudeenverma198
हम नही रोते परिस्थिति का रोना
हम नही रोते परिस्थिति का रोना
Vishnu Prasad 'panchotiya'
जल रहे अज्ञान बनकर, कहेें मैं शुभ सीख हूँ
जल रहे अज्ञान बनकर, कहेें मैं शुभ सीख हूँ
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मां शैलपुत्री देवी
मां शैलपुत्री देवी
Harminder Kaur
*सर्दी की धूप*
*सर्दी की धूप*
Dr. Priya Gupta
Keep On Trying!
Keep On Trying!
R. H. SRIDEVI
नेता अफ़सर बाबुओं,
नेता अफ़सर बाबुओं,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
खिलेंगे फूल राहों में
खिलेंगे फूल राहों में
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
अक्सर कोई तारा जमी पर टूटकर
अक्सर कोई तारा जमी पर टूटकर
'अशांत' शेखर
दिल में मदद
दिल में मदद
Dr fauzia Naseem shad
वही खुला आँगन चाहिए
वही खुला आँगन चाहिए
जगदीश लववंशी
Jay prakash dewangan
Jay prakash dewangan
Jay Dewangan
ब्रह्मांड के विभिन्न आयामों की खोज
ब्रह्मांड के विभिन्न आयामों की खोज
Shyam Sundar Subramanian
Lambi khamoshiyo ke bad ,
Lambi khamoshiyo ke bad ,
Sakshi Tripathi
नामुमकिन
नामुमकिन
Srishty Bansal
Loading...