Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Jul 2016 · 1 min read

भरो हुंकार

*गीतिका*
करो प्रत्यंचा की टंकार।
क्रांति भाव का करो व्यापार।
बिना भय के माने कोई न।
भरो तुम रोषमयी हुंकार।
सुकृत उपसृत कर उर में आप।
मोह का तम कर दो अपसार।
राष्ट्र के प्रति भर -भर उत्साह।
देश प्रेम करो उर संचार।
राष्ट्र ही माँ पालक गुरु बंधु।
यहाँ श्वांस लेता संसार।
करें विद्रोह राष्ट्र से लोग।
छीन लो जीने का अधिकार।
कर रहा है अवनत पाश्चात्य।
करो ‘इषुप्रिय’ अब आप विचार।
अंकित शर्मा’ इषुप्रिय’
रामपुरकलाँ,सबलगढ(म.प्र.)

204 Views
You may also like:
अलबेले लम्हें, दोस्तों के संग में......
Aditya Prakash
धर्म निरपेक्ष चश्मा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*बुंदेली दोहा बिषय- डेकची*
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
Writing Challenge- आईना (Mirror)
Sahityapedia
मानुष हूं मैं या हूं कोई दरिंदा
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
Father is the real Hero.
Taj Mohammad
खुला प्रहार
Shekhar Chandra Mitra
तेरी जिन्दगानी तो
gurudeenverma198
कॉल
Seema 'Tu hai na'
गाँधी जी की अंगूठी (काव्य)
Ravi Prakash
मानव जीवन में तर्पण का महत्व
Santosh Shrivastava
रिश्तों में आई ख़ामोशी
Dr fauzia Naseem shad
शहीद भारत यदुवंशी को मेरा नमन
Surabhi bharati
मुलाकात
Buddha Prakash
✍️हिसाब ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
हिंदी, सपनों की भाषा
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
पेड़ - बाल कविता
Kanchan Khanna
“अवसर” खोजें, पहचाने और लाभ उठायें
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
✍️पत्थर-दिल✍️
'अशांत' शेखर
बाल कहानी- बाल विवाह
SHAMA PARVEEN
देखो हाथी राजा आए
VINOD KUMAR CHAUHAN
जंगल में कवि सम्मेलन
मनोज कर्ण
दोहे भगवान महावीर वचन
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
खोल नैन द्वार माँ।
लक्ष्मी सिंह
आइए रहमान भाई
शिवानन्द सिंह 'सहयोगी'
देश के लिए है अब जीना मरना
Dr Archana Gupta
जीवन और दर्द
Anamika Singh
Heart Wishes For The Wave.
Manisha Manjari
बारिश का मौसम
विजय कुमार अग्रवाल
'शान उनकी'
Godambari Negi
Loading...