Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

बड़ा हाथ (लघु कथा)

बड़ा हाथ
*******

.….आइये बाबू जी आइये। ये लीजिये सवा पांच रुपये का प्रसाद पैक करके रखा है आपके लिए। आपको दूर से ही देख लिया था ना ! इसलिए पहले ही पैक करके रख दिया ! मन्दिर के सामने लगे प्रसाद के खुमचे पर बैठी महिला ने उससे कहा ।

…..अरे आज सवा पांच का नहीं … एक सौ इक्यावन का प्रसाद पैक कर दो .. ये लो दो सौ रुपये।

…..अच्छी बात बाबू जी। ये लीजिये बाँकी के पैसे।

…..अरे रहने दो ! तुम रख लो।

…. लगता है बाबू जी ने आज कहीं बड़ा हाथ मार लिया है। जुग–जुग जियो बाबू जी।
भगवान आपको रोज बड़ा हाथ मारने का मौक़ा दे।

…. और बाबू जी प्रसाद लेकर मुस्कुराते हुए मंदिर की तरफ बढ़ गये.

**********************************************
हरीश चन्द्र लोहुमी
**********************************************

2 Comments · 260 Views
You may also like:
चाँद और चाँदनी का मिलन
Anamika Singh
समय और रिश्ते।
Anamika Singh
【25】 *!* विकृत विचार *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
थक गये हैं कदम अब चलेंगे नहीं
Dr Archana Gupta
न्याय
Vijaykumar Gundal
यह दुनियाँ
Anamika Singh
बेबस पिता
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
"अंतरात्मा"
Dr. Alpa H. Amin
*~* वक्त़ गया हे राम *~*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
💐मौज़💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
पापा करते हो प्यार इतना ।
Buddha Prakash
इश्क है यही।
Taj Mohammad
पापा ने मां बनकर।
Taj Mohammad
आखिरी कोशिश
AMRESH KUMAR VERMA
नभ के दोनों छोर निलय में –नवगीत
रकमिश सुल्तानपुरी
गम हो या हो खुशी।
Taj Mohammad
# तेल लगा के .....
Chinta netam " मन "
*!* अपनी यारी बेमिसाल *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
मानव छंद , विधान और विधाएं
Subhash Singhai
अपने इश्क को।
Taj Mohammad
तेरे हाथों में जिन्दगानियां
DESH RAJ
थोड़ी मेहनत और कर लो
Nitu Sah
इतना शौक मत रखो इन इश्क़ की गलियों से
Krishan Singh
*** वीरता
Prabhavari Jha
मैं कही रो ना दूँ
Swami Ganganiya
जीने का नजरिया अंदर चाहिए।
Taj Mohammad
खुदा भेजेगा ज़रूर।
Taj Mohammad
* प्रेमी की वेदना *
Dr. Alpa H. Amin
पिता
Rajiv Vishal
बुंदेली दोहे
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
Loading...