Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Jul 2023 · 2 min read

ब्रह्मेश्वर मुखिया / MUSAFIR BAITHA

ब्रह्मेश्वर मुखिया
{कुख्यात सवर्ण जातीय गिरोह, रणवीर सेना सरगना}

अपराध का चेहरा यह
उर्फ ऐसे ताज़े चेहरे की बात कीजिये तो
यह ब्रह्मेश्वर मुखिया या और
किसी का भी हो सकता है
जिसे देख समझना मुश्किल

सहज शांत चेहरा गुरु-गंभीर बहुधा
जो कुछ इस चेहरे को समझ लो आप
पर इस सौम्य चेहरे को असल चेहरे से जोड़ना
महज चेहरा देख बड़ा मुश्किल काम
चेहरों से लगे सारे मुहावरों के
अच्छे बुरे अर्थ आप
इस मुखिया के चेहरों को नाप गह सकते हैं
गर माप सको आप!

बोली-बानी धीर-गंभीर मगर
असहज उकसाऊ सवालों के संयत जवाब
प्रतिप्रशन भी यदा कदा लाजवाब
कि मैं क्या बाईस बाईस नरसंहारों का
सरगना नियोजक
और तीन सौ के नजदीक निरीह सिरों का क़त्ल करने वाला
हो सकूंगा मेरे माई-बाप
जो एक मक्खी तक मार न सका अबतक

ऐलान किया नहीं कि किसी अतिवादी संगठन का
रणवीर सेना का मुखिया तुखिया है वह
रहा करता वकालत सकल किसानों मजदूरों के हितचिन्तक होने की
किसी जाति विशेष से राग द्वेष रखने का
नहीं किया सार्वजनिक स्वीकार या कि ऐलान
अपनी हत्या पाने के दिन तक भी
जबकि जीवन का मूल ध्येय और एजेंडा ही रहा
भू, भू-भूपति और भू-जाति समेत द्विजत्व रक्षा का
कि जैसे, दलितों वंचितों के प्रति पैदा होते ही
पाल लिया था डाह और नफरतों का अथाह हाहाकारी सामंती विकार

चतुर सुजान सयाना इतना कि
लाख आतंक मचा रख छोड़ा उसने
पंचलखिया इनाम टांक डाले उसके सर चाहे शासन सरकार ने
कोई लख नही सका उसका चेहरा तबतक
जबतक चढ़ा नहीं वह पुलिस के हत्थे
और पकड़ा गया भी वह तब जाकर
उसी पुलिस की मदद ली शासन ने जो कभी
लाख लिया था उसका चेहरा रख नज़र सतर्क

मुखिया अब खुद नहीं है जिंदा
जिंदा कहावत है मगर वह
आज गब्बर की कथा सुना
बच्चों को डराने की नहीं जरूरत कम से कम बिहार में

गहें नए समय में मुहावरे नए डराने के
बच्चे क्या सयानों का भी मुंह सुखाइए
बस, उन्हें मुखिया की इस रणवीरसेनाई
कोई ऊहात्मक दास्तान सुनाइये!

Language: Hindi
110 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr MusafiR BaithA
View all
You may also like:
"जाल"
Dr. Kishan tandon kranti
आप कैसा कमाल करते हो
आप कैसा कमाल करते हो
Dr fauzia Naseem shad
अभागा
अभागा
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
ये दूरियां सिर्फ मैंने कहाँ बनायी थी //
ये दूरियां सिर्फ मैंने कहाँ बनायी थी //
गुप्तरत्न
दु:ख का रोना मत रोना कभी किसी के सामने क्योंकि लोग अफसोस नही
दु:ख का रोना मत रोना कभी किसी के सामने क्योंकि लोग अफसोस नही
Ranjeet kumar patre
आग से जल कर
आग से जल कर
हिमांशु Kulshrestha
रूह को खुशबुओं सा महकाने वाले
रूह को खुशबुओं सा महकाने वाले
कवि दीपक बवेजा
क्या अब भी तुम न बोलोगी
क्या अब भी तुम न बोलोगी
Rekha Drolia
तुम्हारी सब अटकलें फेल हो गई,
तुम्हारी सब अटकलें फेल हो गई,
Mahender Singh
शहर में बिखरी है सनसनी सी ,
शहर में बिखरी है सनसनी सी ,
Manju sagar
विद्यापति धाम
विद्यापति धाम
डॉ. श्री रमण 'श्रीपद्'
*अभी तो घोंसले में है, विहग के पंख खुलने दो (मुक्तक)*
*अभी तो घोंसले में है, विहग के पंख खुलने दो (मुक्तक)*
Ravi Prakash
सोच
सोच
Shyam Sundar Subramanian
"अगर आपके पास भरपूर माल है
*Author प्रणय प्रभात*
मानसिक शान्ति के मूल्य पर अगर आप कोई बहुमूल्य चीज भी प्राप्त
मानसिक शान्ति के मूल्य पर अगर आप कोई बहुमूल्य चीज भी प्राप्त
Paras Nath Jha
Stop use of Polythene-plastic
Stop use of Polythene-plastic
Tushar Jagawat
“परिंदे की अभिलाषा”
“परिंदे की अभिलाषा”
DrLakshman Jha Parimal
कम्प्यूटर ज्ञान :- नयी तकनीक- पावर बी आई
कम्प्यूटर ज्ञान :- नयी तकनीक- पावर बी आई
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
जो लोग बाइक पर हेलमेट के जगह चश्मा लगाकर चलते है वो हेलमेट ल
जो लोग बाइक पर हेलमेट के जगह चश्मा लगाकर चलते है वो हेलमेट ल
Rj Anand Prajapati
बिहार के मूर्द्धन्य द्विज लेखकों के विभाजित साहित्य सरोकार
बिहार के मूर्द्धन्य द्विज लेखकों के विभाजित साहित्य सरोकार
Dr MusafiR BaithA
बेटियाँ
बेटियाँ
विजय कुमार अग्रवाल
इज़्जत भरी धूप का सफ़र करना,
इज़्जत भरी धूप का सफ़र करना,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
नन्हीं परी आई है
नन्हीं परी आई है
Mukesh Kumar Sonkar
इतना बेबस हो गया हूं मैं
इतना बेबस हो गया हूं मैं
Keshav kishor Kumar
पके फलों के रूपों को देखें
पके फलों के रूपों को देखें
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
........?
........?
शेखर सिंह
अब समन्दर को सुखाना चाहते हैं लोग
अब समन्दर को सुखाना चाहते हैं लोग
Shivkumar Bilagrami
3460🌷 *पूर्णिका* 🌷
3460🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
जीवन की विषम परिस्थितियों
जीवन की विषम परिस्थितियों
Dr.Rashmi Mishra
एकाकी
एकाकी
Dr.Pratibha Prakash
Loading...