Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 May 2024 · 1 min read

बेशक मां बाप हर ख़्वाहिश करते हैं

बेशक मां बाप हर ख़्वाहिश करते हैं
लेकिन उनकी चौखट पर,
जो आखिरी ख़्वाहिश होती हैं
वही तोड़ देते हैं
दिल कहीं और होता है
पर साथ कहीं और जोड़ देते हैं

41 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मौन
मौन
लक्ष्मी सिंह
अपनी लेखनी नवापुरा के नाम ( कविता)
अपनी लेखनी नवापुरा के नाम ( कविता)
Praveen Sain
कवर नयी है किताब वही पुराना है।
कवर नयी है किताब वही पुराना है।
Manoj Mahato
ज़रा सा इश्क
ज़रा सा इश्क
हिमांशु Kulshrestha
तैराक हम गहरे पानी के,
तैराक हम गहरे पानी के,
Aruna Dogra Sharma
नज़र बूरी नही, नजरअंदाज थी
नज़र बूरी नही, नजरअंदाज थी
संजय कुमार संजू
मैं तो महज इत्तिफ़ाक़ हूँ
मैं तो महज इत्तिफ़ाक़ हूँ
VINOD CHAUHAN
शिवनाथ में सावन
शिवनाथ में सावन
Santosh kumar Miri
कुछ व्यंग्य पर बिल्कुल सच
कुछ व्यंग्य पर बिल्कुल सच
Ram Krishan Rastogi
आक्रोश प्रेम का
आक्रोश प्रेम का
भरत कुमार सोलंकी
ज़िंदगी
ज़िंदगी
Dr fauzia Naseem shad
🙅ओनली पूछिंग🙅
🙅ओनली पूछिंग🙅
*प्रणय प्रभात*
चलते जाना
चलते जाना
अनिल कुमार निश्छल
"संवाद"
Dr. Kishan tandon kranti
अंग प्रदर्शन करने वाले जितने भी कलाकार है उनके चरित्र का अस्
अंग प्रदर्शन करने वाले जितने भी कलाकार है उनके चरित्र का अस्
Rj Anand Prajapati
दोस्तों के साथ धोखेबाजी करके
दोस्तों के साथ धोखेबाजी करके
ruby kumari
असफलता
असफलता
Neeraj Agarwal
हिस्से की धूप
हिस्से की धूप
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
दिल के कोने में
दिल के कोने में
Surinder blackpen
सब ठीक है
सब ठीक है
पूर्वार्थ
रक्षाबंधन
रक्षाबंधन
Pratibha Pandey
*डॉ मनमोहन शुक्ल की आशीष गजल वर्ष 1984*
*डॉ मनमोहन शुक्ल की आशीष गजल वर्ष 1984*
Ravi Prakash
*सांच को आंच नहीं*
*सांच को आंच नहीं*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
शिक्षा
शिक्षा
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
भिखारी का बैंक
भिखारी का बैंक
Punam Pande
कोई शाम तलक,कोई सुबह तलक
कोई शाम तलक,कोई सुबह तलक
Shweta Soni
2526.पूर्णिका
2526.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
*
*"जहां भी देखूं नजर आते हो तुम"*
Shashi kala vyas
निदामत का एक आँसू ......
निदामत का एक आँसू ......
shabina. Naaz
ऐलान कर दिया....
ऐलान कर दिया....
डॉ.सीमा अग्रवाल
Loading...