Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Jun 2023 · 1 min read

बेवजह कदमों को चलाए है।

हमें मिलता नही सुकूँन हम कहां जाए,
बेवजह कदमों को चलाए है।।1।।

ऐ जिन्दगी कुछ कर ख्याल हमारा भी,
वक्त के हम बड़े ही सताए है।।2।।

मेरी भी दुआओं में असर हो मौला मेरे,
कबसे इन हाथों को फैलाए है।।3।।

हम इक बस तेरी मोहब्बत की खातिर,
खुद को खाक में मिलाए है।।4।।

जानकर हम खुदसे बेवफाई कर रहे है,
झूठी तसल्ली से समझाए है।।5।।

ऐ चरागों सो जाओ कुछ वक्त के लिए,
उजाले लेकर जुगनू आए है।।6।।

मत जाना मेरे लबों के हंसने पर तुम,
तन्हाई में बड़े अश्क बहाए है।।7।।

कर अकीदा या ना कर मेरी चाहत पे,
तेरे इश्क में बड़े जख्म खाए है।।8।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

1 Like · 289 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Taj Mohammad
View all
You may also like:
#लघुकथा-
#लघुकथा-
*Author प्रणय प्रभात*
दुनिया के हर क्षेत्र में व्यक्ति जब समभाव एवं सहनशीलता से सा
दुनिया के हर क्षेत्र में व्यक्ति जब समभाव एवं सहनशीलता से सा
Raju Gajbhiye
फूक मार कर आग जलाते है,
फूक मार कर आग जलाते है,
Buddha Prakash
बुलंदियों से भरे हौसलें...!!!!
बुलंदियों से भरे हौसलें...!!!!
Jyoti Khari
राजस्थानी भाषा में
राजस्थानी भाषा में
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
भोग कामना - अंतहीन एषणा
भोग कामना - अंतहीन एषणा
Atul "Krishn"
जब गेंद बोलती है, धरती हिलती है, मोहम्मद शमी का जादू, बयां क
जब गेंद बोलती है, धरती हिलती है, मोहम्मद शमी का जादू, बयां क
Sahil Ahmad
ठहराव नहीं अच्छा
ठहराव नहीं अच्छा
Dr. Meenakshi Sharma
लाखों रावण पहुंच गए हैं,
लाखों रावण पहुंच गए हैं,
Pramila sultan
मैं और तुम-कविता
मैं और तुम-कविता
Shyam Pandey
राह मुश्किल हो चाहे आसां हो
राह मुश्किल हो चाहे आसां हो
Shweta Soni
भाईचारे का प्रतीक पर्व: लोहड़ी
भाईचारे का प्रतीक पर्व: लोहड़ी
कवि रमेशराज
न बदले...!
न बदले...!
Srishty Bansal
"सच की सूरत"
Dr. Kishan tandon kranti
हाथ माखन होठ बंशी से सजाया आपने।
हाथ माखन होठ बंशी से सजाया आपने।
लक्ष्मी सिंह
3046.*पूर्णिका*
3046.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
शेखर सिंह
शेखर सिंह
शेखर सिंह
मातृस्वरूपा प्रकृति
मातृस्वरूपा प्रकृति
ऋचा पाठक पंत
व्यस्तता
व्यस्तता
Surya Barman
...
...
Ravi Yadav
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ/ दैनिक रिपोर्ट*
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ/ दैनिक रिपोर्ट*
Ravi Prakash
मन की पीड़ा
मन की पीड़ा
पूर्वार्थ
पिछले पन्ने 3
पिछले पन्ने 3
Paras Nath Jha
मेहनतकश अवाम
मेहनतकश अवाम
Shekhar Chandra Mitra
सच का सौदा
सच का सौदा
अरशद रसूल बदायूंनी
बुला रही है सीता तुम्हारी, तुमको मेरे रामजी
बुला रही है सीता तुम्हारी, तुमको मेरे रामजी
gurudeenverma198
छल.....
छल.....
sushil sarna
बेटी पढ़ायें, बेटी बचायें
बेटी पढ़ायें, बेटी बचायें
Kanchan Khanna
रेत और जीवन एक समान हैं
रेत और जीवन एक समान हैं
राजेंद्र तिवारी
बालि हनुमान मलयुद्ध
बालि हनुमान मलयुद्ध
Anil chobisa
Loading...