Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Jan 2024 · 1 min read

बेबाक ज़िन्दगी

बेबाक ज़िन्दगी की कसमसाती तल्खियाँ
कुछ मेरी गुस्ताखियां और कुछ तेरी गलतियां
वो अल्हड़ता से लड़ना और अकड़ना साथ में
याद करतीं हूँ तो मेरी मुस्कुराती गलतियाँ।🤗

नीलम शर्मा ✍️

1 Like · 56 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मैं भौंर की हूं लालिमा।
मैं भौंर की हूं लालिमा।
Surinder blackpen
" नारी का दुख भरा जीवन "
Surya Barman
हवन - दीपक नीलपदम्
हवन - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
हम शायर लोग कहां इज़हार ए मोहब्बत किया करते हैं।
हम शायर लोग कहां इज़हार ए मोहब्बत किया करते हैं।
Faiza Tasleem
दास्ताने-कुर्ता पैजामा [ व्यंग्य ]
दास्ताने-कुर्ता पैजामा [ व्यंग्य ]
कवि रमेशराज
बचपन
बचपन
संजय कुमार संजू
हवाओं के भरोसे नहीं उड़ना तुम कभी,
हवाओं के भरोसे नहीं उड़ना तुम कभी,
Neelam Sharma
बहुत उम्मीदें थीं अपनी, मेरा कोई साथ दे देगा !
बहुत उम्मीदें थीं अपनी, मेरा कोई साथ दे देगा !
DrLakshman Jha Parimal
*
*"कार्तिक मास"*
Shashi kala vyas
#सुप्रभात
#सुप्रभात
आर.एस. 'प्रीतम'
असफलता
असफलता
Neeraj Agarwal
वो स्पर्श
वो स्पर्श
Kavita Chouhan
सफलता के बीज बोने का सर्वोत्तम समय
सफलता के बीज बोने का सर्वोत्तम समय
Paras Nath Jha
दुःख  से
दुःख से
Shweta Soni
नव प्रबुद्ध भारती
नव प्रबुद्ध भारती
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
गर्मी की छुट्टी में होमवर्क (बाल कविता )
गर्मी की छुट्टी में होमवर्क (बाल कविता )
Ravi Prakash
'मन चंगा तो कठौती में गंगा' कहावत के बर्थ–रूट की एक पड़ताल / DR MUSAFIR BAITHA
'मन चंगा तो कठौती में गंगा' कहावत के बर्थ–रूट की एक पड़ताल / DR MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
पहाड़ के गांव,एक गांव से पलायन पर मेरे भाव ,
पहाड़ के गांव,एक गांव से पलायन पर मेरे भाव ,
Mohan Pandey
"व्यर्थ है धारणा"
Dr. Kishan tandon kranti
बेटी
बेटी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
Mere shaksiyat  ki kitab se ab ,
Mere shaksiyat ki kitab se ab ,
Sakshi Tripathi
इतनी ज़ुबाॅ को
इतनी ज़ुबाॅ को
Dr fauzia Naseem shad
जलियांवाला बाग की घटना, दहला देने वाली थी
जलियांवाला बाग की घटना, दहला देने वाली थी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
आइये तर्क पर विचार करते है
आइये तर्क पर विचार करते है
शेखर सिंह
२९०८/२०२३
२९०८/२०२३
कार्तिक नितिन शर्मा
फितरत
फितरत
kavita verma
तुझे ढूंढने निकली तो, खाली हाथ लौटी मैं।
तुझे ढूंढने निकली तो, खाली हाथ लौटी मैं।
Manisha Manjari
बीजारोपण
बीजारोपण
आर एस आघात
जीवन एक मकान किराए को,
जीवन एक मकान किराए को,
Bodhisatva kastooriya
✍️माँ ✍️
✍️माँ ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
Loading...