Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Sep 2022 · 1 min read

बेटियों तुम्हें करना होगा प्रश्न

जब कोई तुम्हें बुलाकर ले जाए अपने घर
और थाली में धुलवाये तुम्हारे पाँव
पाँवों में लगाए घी
माता का रूप मान कर
तुम्हारी करे पूजा
ध्यान रखो ठीक उसी समय
पूजा होने से ठीक पहले
तुम्हें करना होगा प्रश्न पूजने वाले से
जानना होगा तुम्हें अपने प्रश्नो का उत्तर
केवल उत्तर ही नही समाधान भी
पूछना होगा तुम्हे
जब नारी इतनी सम्मानीय है
इतनी पूजनीय है
नारी का त्याग इतना अनुकरणीय है
तो वह सुरक्षित क्यों नही
क्यों होता है उसके साथ दुराचार
क्यों होता है उस पर अत्याचार
संस्कार, समाज या मरी हुई संवेदना
कौन है इसका जिम्मेदार।
यदि मिले उत्तर के साथ समाधान
तभी पूजवाना अपने पाँव
याद रखो जब प्रश्न करोगी
तभी निकलेगा समाधान।
-रमाकान्त चौधरी
उत्तर प्रदेश

7 Likes · 7 Comments · 142 Views
You may also like:
षडयंत्रों की कमी नहीं है
सूर्यकांत द्विवेदी
आत्म बोध की आत्मा महात्मा
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
दलीलें झूठी हो सकतीं हैं
सिद्धार्थ गोरखपुरी
छीन लिए है जब हक़ सारे तुमने
Ram Krishan Rastogi
बन जायेगा जल्द ही
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
*छोड़ो मांसाहार (मुक्तक)*
Ravi Prakash
भूल गयी वह चिट्ठी
Buddha Prakash
💐 देह दलन 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
आत्मनिर्भर
मनोज कर्ण
मंजिले जुस्तजू
Vikas Sharma'Shivaaya'
पहचान
Anamika Singh
*** " विवशता की दहलीज पर , कुसुम कुमारी....!!! "...
VEDANTA PATEL
भूल जा - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
दुविधा
Shyam Sundar Subramanian
मानवता
Dr.sima
वक्त लगता है
Deepak Baweja
थिरक उठें जन जन,
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बुरी आदत
AMRESH KUMAR VERMA
माई थपकत सुतावत रहे राति भर।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
✍️मुकद्दर आजमाते है✍️
'अशांत' शेखर
ਆਹਟ
विनोद सिल्ला
पुन: विभूषित हो धरती माँ ।
Saraswati Bajpai
“AUTOCRATIC GESTURE OF GROUP ON FACEBOOK”
DrLakshman Jha Parimal
जब हवाएँ तेरे शहर से होकर आती हैं।
Manisha Manjari
हाइकु: नवरात्रि पर्व!
Prabhudayal Raniwal
दाम रिश्तों के
Dr fauzia Naseem shad
उसे चाहना
Nitu Sah
गुरु महिमा
Vishnu Prasad 'panchotiya'
कविगोष्ठी समाचार
Awadhesh Saxena
मुझको रूलाया है।
Taj Mohammad
Loading...