Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Jul 2016 · 1 min read

बच्चा बच्चा सिपाही है भारत माँ का

देश भक्ति पर लिखने का प्रयास ….

बच्चा बच्चा सिपाही है भारत माँ का

बच्चा बच्चा सिपाही है भारत माँ का
बड़ी भूल होगी अगर इन्हें कम आकाँ
देश भक्ति का जज्बा है दिल में इनके
कर न पाओगे इनका कभी बाल बाँका
कर न पाओगे इनका कभी बाल बाँका
बच्चा बच्चा सिपाही है भारत माँ का
नही बख्शते ये सिपाही किसी को भी
अगर इनकी सीमा में किसी ने झाँका
बच्चा बच्चा सिपाही है भारत माँ का
खुद आँचल से सींचा माँ ने हौसला
दिल पर देश भक्ति का गुल है टाँका
बच्चा बच्चा सिपाही है भारत माँ का
“दिनेश”

1 Comment · 753 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तेरा होना...... मैं चाह लेता
तेरा होना...... मैं चाह लेता
सिद्धार्थ गोरखपुरी
वो कहती हैं ग़ैर हों तुम अब! हम तुमसे प्यार नहीं करते
वो कहती हैं ग़ैर हों तुम अब! हम तुमसे प्यार नहीं करते
The_dk_poetry
पिता
पिता
Swami Ganganiya
याद हो बस तुझे
याद हो बस तुझे
Dr fauzia Naseem shad
माली अकेला क्या करे ?,
माली अकेला क्या करे ?,
ओनिका सेतिया 'अनु '
आपकी वजह से किसी को दर्द ना हो
आपकी वजह से किसी को दर्द ना हो
Aarti sirsat
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ये ढलती शाम है जो, रुमानी और होगी।
ये ढलती शाम है जो, रुमानी और होगी।
सत्य कुमार प्रेमी
#ग़ज़ल
#ग़ज़ल
*प्रणय प्रभात*
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
हमे अब कहा फिक्र जमाने की है
हमे अब कहा फिक्र जमाने की है
पूर्वार्थ
बाल कविता: मछली
बाल कविता: मछली
Rajesh Kumar Arjun
सुनले पुकार मैया
सुनले पुकार मैया
Basant Bhagawan Roy
लक्ष्मी-पूजन का अर्थ है- विकारों से मुक्ति
लक्ष्मी-पूजन का अर्थ है- विकारों से मुक्ति
कवि रमेशराज
जो गुजर गया
जो गुजर गया
ruby kumari
मासुमियत - बेटी हूँ मैं।
मासुमियत - बेटी हूँ मैं।
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
खूबसूरत जिंदगी में
खूबसूरत जिंदगी में
Harminder Kaur
मदहोशियां कहाँ ले जाएंगी क्या मालूम
मदहोशियां कहाँ ले जाएंगी क्या मालूम
VINOD CHAUHAN
2517.पूर्णिका
2517.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
हर खतरे से पुत्र को,
हर खतरे से पुत्र को,
sushil sarna
संवेदना -जीवन का क्रम
संवेदना -जीवन का क्रम
Rekha Drolia
"प्रेम -मिलन '
DrLakshman Jha Parimal
"जिन्दगी"
Dr. Kishan tandon kranti
Tu wakt hai ya koi khab mera
Tu wakt hai ya koi khab mera
Sakshi Tripathi
रोटी से फूले नहीं, मानव हो या मूस
रोटी से फूले नहीं, मानव हो या मूस
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सितारा कोई
सितारा कोई
shahab uddin shah kannauji
युवा दिवस
युवा दिवस
Tushar Jagawat
आप हर पल हर किसी के लिए अच्छा सोचे , उनके अच्छे के लिए सोचे
आप हर पल हर किसी के लिए अच्छा सोचे , उनके अच्छे के लिए सोचे
Raju Gajbhiye
" दूरियां"
Pushpraj Anant
पगली
पगली
Kanchan Khanna
Loading...