Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Jul 2023 · 1 min read

बचपन खो गया….

बचपन खो गया, जवानी खो गई,
मां की वो कहानी खो गई, दोस्तों के संग खेलता था
जो खेल उस खेल की सारी मस्तानी खो गई
और निकला था जिस सुकून की तलाश में,
उसकी खोज में सारी जिंदगानी खो गई, जिंदगानी……

Language: Hindi
1 Like · 140 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"जेब्रा"
Dr. Kishan tandon kranti
छोड़ जाते नही पास आते अगर
छोड़ जाते नही पास आते अगर
कृष्णकांत गुर्जर
■ नज़्म (ख़ुदा करता कि तुमको)
■ नज़्म (ख़ुदा करता कि तुमको)
*Author प्रणय प्रभात*
"म्हारी छोरियां छोरों से कम हैं के"
Abdul Raqueeb Nomani
" ज़ख़्मीं पंख‌ "
Chunnu Lal Gupta
परमात्मा
परमात्मा
ओंकार मिश्र
मन होता है मेरा,
मन होता है मेरा,
Dr Tabassum Jahan
जीवन अप्रत्याशित
जीवन अप्रत्याशित
पूर्वार्थ
दीवारें खड़ी करना तो इस जहां में आसान है
दीवारें खड़ी करना तो इस जहां में आसान है
Charu Mitra
जेसे दूसरों को खुशी बांटने से खुशी मिलती है
जेसे दूसरों को खुशी बांटने से खुशी मिलती है
shabina. Naaz
Life is a rain
Life is a rain
Ankita Patel
मुझे छेड़ो ना इस तरह
मुझे छेड़ो ना इस तरह
Basant Bhagawan Roy
पहले की भारतीय सेना
पहले की भारतीय सेना
Satish Srijan
*आवारा कुत्ते हुए, शेरों-से खूंखार (कुंडलिया)*
*आवारा कुत्ते हुए, शेरों-से खूंखार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
कर न चर्चा हसीन ख्वाबों का।
कर न चर्चा हसीन ख्वाबों का।
सत्य कुमार प्रेमी
राजर्षि अरुण की नई प्रकाशित पुस्तक
राजर्षि अरुण की नई प्रकाशित पुस्तक "धूप के उजाले में" पर एक नजर
Paras Nath Jha
प्रतिश्रुति
प्रतिश्रुति
DR ARUN KUMAR SHASTRI
💐प्रेम कौतुक-389💐
💐प्रेम कौतुक-389💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
नाम मौहब्बत का लेकर मेरी
नाम मौहब्बत का लेकर मेरी
Phool gufran
दिनांक:- २४/५/२०२३
दिनांक:- २४/५/२०२३
संजीव शुक्ल 'सचिन'
इन आँखों में इतनी सी नमी रह गई।
इन आँखों में इतनी सी नमी रह गई।
लक्ष्मी सिंह
शिद्धतों से ही मिलता है रोशनी का सबब्
शिद्धतों से ही मिलता है रोशनी का सबब्
कवि दीपक बवेजा
मैं हमेशा अकेली इसलिए रह  जाती हूँ
मैं हमेशा अकेली इसलिए रह जाती हूँ
Amrita Srivastava
शिव
शिव
Dr Archana Gupta
सुप्रभात
सुप्रभात
Arun B Jain
साँवरिया तुम कब आओगे
साँवरिया तुम कब आओगे
Kavita Chouhan
है आँखों में कुछ नमी सी
है आँखों में कुछ नमी सी
हिमांशु Kulshrestha
लोग कहते हैं कि प्यार अँधा होता है।
लोग कहते हैं कि प्यार अँधा होता है।
आनंद प्रवीण
माना सच है वो कमजर्फ कमीन बहुत  है।
माना सच है वो कमजर्फ कमीन बहुत है।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
कलम वो तलवार है ,
कलम वो तलवार है ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
Loading...