Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Oct 2023 · 1 min read

” फ़ौजी”

” फ़ौजी”
फ़ौज में जाना, आसान नहीं होता है,
ये सबके बस की, बात नहीं होता है।
घर परिवार छोड़कर ,देश सेवा में लग जाते है ।
ये फौजी केवल ,नाम के नही होते है ।
सर कफन पर बांध के निकलते है,
दुश्मनों को धूल चटा के, वापस लौटते है।
ये मेरे सच्चे वीर सपूत है ,
जो अपनी परवाह नहीं ,पूरे देश की परवाह करते है ।
ऐसे वीर सपूत , पर हमे गर्व है ।
……….,✍️ योगेन्द्र चतुर्वेदी

1 Like · 1 Comment · 360 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
महबूबा से
महबूबा से
Shekhar Chandra Mitra
दोहा
दोहा
दुष्यन्त 'बाबा'
बालकों के जीवन में पुस्तकों का महत्व
बालकों के जीवन में पुस्तकों का महत्व
लोकेश शर्मा 'अवस्थी'
जीने की वजह हो तुम
जीने की वजह हो तुम
Surya Barman
#देख_लिया
#देख_लिया
*Author प्रणय प्रभात*
*फागुन महीने का मधुर, उपहार है होली (मुक्तक)*
*फागुन महीने का मधुर, उपहार है होली (मुक्तक)*
Ravi Prakash
वन  मोर  नचे  घन  शोर  करे, जब  चातक दादुर  गीत सुनावत।
वन मोर नचे घन शोर करे, जब चातक दादुर गीत सुनावत।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
प्रेम को भला कौन समझ पाया है
प्रेम को भला कौन समझ पाया है
Mamta Singh Devaa
भारतीय क्रिकेट टीम के पहले कप्तान : कर्नल सी. के. नायडू
भारतीय क्रिकेट टीम के पहले कप्तान : कर्नल सी. के. नायडू
Dr. Pradeep Kumar Sharma
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
रार बढ़े तकरार हो,
रार बढ़े तकरार हो,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
अपना...❤❤❤
अपना...❤❤❤
Vishal babu (vishu)
ज्ञान तो बहुत लिखा है किताबों में
ज्ञान तो बहुत लिखा है किताबों में
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
दोस्ती में लोग एक दूसरे की जी जान से मदद करते हैं
दोस्ती में लोग एक दूसरे की जी जान से मदद करते हैं
ruby kumari
आधा किस्सा आधा फसाना रह गया
आधा किस्सा आधा फसाना रह गया
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
🚩पिता
🚩पिता
Pt. Brajesh Kumar Nayak
खाली मन...... एक सच
खाली मन...... एक सच
Neeraj Agarwal
लौट कर फिर से
लौट कर फिर से
Dr fauzia Naseem shad
निर्मम क्यों ऐसे ठुकराया....
निर्मम क्यों ऐसे ठुकराया....
डॉ.सीमा अग्रवाल
"पहचानिए"
Dr. Kishan tandon kranti
लत / MUSAFIR BAITHA
लत / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
इंतजार करो
इंतजार करो
Buddha Prakash
ज़ब ज़ब जिंदगी समंदर मे गिरती है
ज़ब ज़ब जिंदगी समंदर मे गिरती है
शेखर सिंह
आओ सर्दी की बाहों में खो जाएं
आओ सर्दी की बाहों में खो जाएं
नूरफातिमा खातून नूरी
जब तुम एक बड़े मकसद को लेकर चलते हो तो छोटी छोटी बाधाएं तुम्
जब तुम एक बड़े मकसद को लेकर चलते हो तो छोटी छोटी बाधाएं तुम्
Drjavedkhan
पितर पाख
पितर पाख
Mukesh Kumar Sonkar
तुम ही तुम हो
तुम ही तुम हो
मानक लाल मनु
देह से देह का मिलन दो को एक नहीं बनाता है
देह से देह का मिलन दो को एक नहीं बनाता है
Pramila sultan
* पराया मत समझ लेना *
* पराया मत समझ लेना *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
प्रेम
प्रेम
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
Loading...