Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Jul 2023 · 1 min read

फ़ितरत-ए-धूर्त

जुबां पे दिलकश दिलफरेबी बातों का शहद,
दिल में जहर-ओ-फरेब का समंदर हो ॥

मुस्कराहट के साथ फेरते हो नफरती तिलिस्म,
सोचता हूँ कितने ऊपर औ कितने जमीं के अन्दर हो ॥

फूलों की डाल से दिखाई देते हो लेकिन,
यकीन से लपेटा हुआ विशाक्त तेजाबी खन्जर हो ॥

ये दुनिया ढ़ल चुकी है तुम भेड़ियों के लिए,
कोई नहीं जानता तुम किसकी खाल के अन्दर हो ।।

वो वेचारे पीटते रहें ढ़ोल शराफ़त सच्चाई का,
कौन पूछता अब उनको तुम आज के सिकन्दर हो ।।

@ दीपक कुमार श्रीवास्तव “नील पदम्”

9 Likes · 1 Comment · 1418 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
View all
You may also like:
ख्वाबों में भी तेरा ख्याल मुझे सताता है
ख्वाबों में भी तेरा ख्याल मुझे सताता है
Bhupendra Rawat
वक्त की रेत
वक्त की रेत
Dr. Kishan tandon kranti
आर्या कंपटीशन कोचिंग क्लासेज केदलीपुर ईरनी रोड ठेकमा आजमगढ़
आर्या कंपटीशन कोचिंग क्लासेज केदलीपुर ईरनी रोड ठेकमा आजमगढ़
Rj Anand Prajapati
नेताजी का रक्तदान
नेताजी का रक्तदान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
तपिश धूप की तो महज पल भर की मुश्किल है साहब
तपिश धूप की तो महज पल भर की मुश्किल है साहब
Yogini kajol Pathak
मैं हू बेटा तेरा तूही माँ है मेरी
मैं हू बेटा तेरा तूही माँ है मेरी
Basant Bhagawan Roy
నా గ్రామం
నా గ్రామం
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
रुकना हमारा काम नहीं...
रुकना हमारा काम नहीं...
AMRESH KUMAR VERMA
■ आज की बात
■ आज की बात
*Author प्रणय प्रभात*
शौक में नहीं उड़ता है वो, उड़ना उसकी फक्र पहचान है,
शौक में नहीं उड़ता है वो, उड़ना उसकी फक्र पहचान है,
manjula chauhan
आ गया मौसम सुहाना
आ गया मौसम सुहाना
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
2882.*पूर्णिका*
2882.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
सौदागर हूँ
सौदागर हूँ
Satish Srijan
अनमोल जीवन
अनमोल जीवन
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
मिट्टी के परिधान सब,
मिट्टी के परिधान सब,
sushil sarna
रात स्वप्न में दादी आई।
रात स्वप्न में दादी आई।
Vedha Singh
शातिर हवा के ठिकाने बहुत!
शातिर हवा के ठिकाने बहुत!
Bodhisatva kastooriya
तुम्हे नया सा अगर कुछ मिल जाए
तुम्हे नया सा अगर कुछ मिल जाए
सिद्धार्थ गोरखपुरी
एक सच
एक सच
Neeraj Agarwal
वृंदावन की यात्रा (यात्रा वृत्तांत)
वृंदावन की यात्रा (यात्रा वृत्तांत)
Ravi Prakash
कविता
कविता
Rambali Mishra
चाँद से मुलाकात
चाँद से मुलाकात
Kanchan Khanna
के जब तक दिल जवां होता नहीं है।
के जब तक दिल जवां होता नहीं है।
सत्य कुमार प्रेमी
हिंदी भारत की पहचान
हिंदी भारत की पहचान
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
मरीचिका
मरीचिका
लक्ष्मी सिंह
विचार, संस्कार और रस [ एक ]
विचार, संस्कार और रस [ एक ]
कवि रमेशराज
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
दिवाली व होली में वार्तालाप
दिवाली व होली में वार्तालाप
Ram Krishan Rastogi
रिश्ते
रिश्ते
Dr fauzia Naseem shad
प्यार विश्वाश है इसमें कोई वादा नहीं होता!
प्यार विश्वाश है इसमें कोई वादा नहीं होता!
Diwakar Mahto
Loading...