Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Apr 2024 · 1 min read

****प्रेम सागर****

प्रेम सागर ये अंनत गहरा
कलकल प्रवाहित सा ठहरा
प्रेम बयार स्वच्छंद न्यारी
सुंदर पुष्प की अनुपम क्यारी।

शीतल सुवास उपवन महका
शशि निशा के आगोश बहका
गुपचुप बतिया करते सितारे
नभ के आँगन में बिछते सारे।

स्वप्निल नयन लेते हिलोरे
सुमन अलंकृत अनेक भौरें
अधर गुपचुप से मुस्काये
कपोल गुलाबी रंगत पाये।

नेह,बंधन संग नवीन प्रत्याशा
खोजे हिय मधुर सी दिलासा
करते नयन इक ही प्रतीक्षा
धवल उज्जवल सा इक शीशा।

स्वर्णिम आँचल तारों सजा
नव उल्लास अन्तस्थल बसा
बेबस मन देखे इक आशा
अनचाही अनाम अभिलाषा।

✍️”कविता चौहान”
स्वरचित एवं मौलिक

54 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ऐसे लहज़े में जब लिखते हो प्रीत को,
ऐसे लहज़े में जब लिखते हो प्रीत को,
Amit Pathak
दिल की भाषा
दिल की भाषा
Ram Krishan Rastogi
हमें आशिकी है।
हमें आशिकी है।
Taj Mohammad
माणुष
माणुष
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
#मुक्तक
#मुक्तक
*प्रणय प्रभात*
गणतंत्र दिवस
गणतंत्र दिवस
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
नदी की करुण पुकार
नदी की करुण पुकार
Anil Kumar Mishra
एक बार बोल क्यों नहीं
एक बार बोल क्यों नहीं
goutam shaw
समझ
समझ
Shyam Sundar Subramanian
तो मैं राम ना होती....?
तो मैं राम ना होती....?
Mamta Singh Devaa
दुनिया  के सब रहस्यों के पार है पिता
दुनिया के सब रहस्यों के पार है पिता
पूर्वार्थ
मोहब्बत कि बाते
मोहब्बत कि बाते
Rituraj shivem verma
मेरे शीघ्र प्रकाश्य उपन्यास से -
मेरे शीघ्र प्रकाश्य उपन्यास से -
kaustubh Anand chandola
सावन बरसता है उधर....
सावन बरसता है उधर....
डॉ.सीमा अग्रवाल
2983.*पूर्णिका*
2983.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मजदूर दिवस पर विशेष
मजदूर दिवस पर विशेष
Harminder Kaur
घड़ियाली आँसू
घड़ियाली आँसू
Dr. Pradeep Kumar Sharma
जीवन में...
जीवन में...
ओंकार मिश्र
"" *गीता पढ़ें, पढ़ाएं और जीवन में लाएं* ""
सुनीलानंद महंत
बोये बीज बबूल आम कहाँ से होय🙏🙏
बोये बीज बबूल आम कहाँ से होय🙏🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
नवरात्रि - गीत
नवरात्रि - गीत
Neeraj Agarwal
माँ शारदे
माँ शारदे
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
Midnight success
Midnight success
Bidyadhar Mantry
*पुस्तक समीक्षा*
*पुस्तक समीक्षा*
Ravi Prakash
तोड़कर दिल को मेरे इश्क़ के बाजारों में।
तोड़कर दिल को मेरे इश्क़ के बाजारों में।
Phool gufran
इक्कीस मनकों की माला हमने प्रभु चरणों में अर्पित की।
इक्कीस मनकों की माला हमने प्रभु चरणों में अर्पित की।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
कुछ लड़कों का दिल, सच में टूट जाता हैं!
कुछ लड़कों का दिल, सच में टूट जाता हैं!
The_dk_poetry
"दीवारें"
Dr. Kishan tandon kranti
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
हाथ की लकीरों में फ़क़ीरी लिखी है वो कहते थे हमें
हाथ की लकीरों में फ़क़ीरी लिखी है वो कहते थे हमें
VINOD CHAUHAN
Loading...