Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Nov 2022 · 1 min read

प्रथम अभिव्यक्ति

प्रथम अभिव्यक्ति
~~°~~°~~°
मंद हवा का झोंका अनूठा ,
बदली जो दिशाएँ जीवन की ।
रहन-सहन की रीति बदल गई,
प्रथम अभिव्यक्ति जीवन पथ की ।

मौन याचना, मौन सहमति ,
याद पुराना यौवन पल की ।
चंदा की शीतल सी चांदनी ,
बदली जो दिशाएँ बचपन की।

अल्फाजों में स्पर्श प्रेम था ,
आस जगी थी नवसृजन की।
नादानियों से छुटा नाता था ,
एहसास हुआ जीवन पथ की।

मौलिक एवं स्वरचित
सर्वाधिकार सुरक्षित
© ® मनोज कुमार कर्ण
कटिहार ( बिहार )
तिथि –०८ /११/२०२२
कार्तिक,शुक्ल पक्ष,पूर्णिमा ,मंगलवार
विक्रम संवत २०७९
मोबाइल न. – 8757227201
ई-मेल – mk65ktr@gmail

7 Likes · 241 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from मनोज कर्ण
View all
You may also like:
धर्म के नाम पे लोग यहां
धर्म के नाम पे लोग यहां
Mahesh Tiwari 'Ayan'
"नग्नता, सुंदरता नहीं कुरूपता है ll
Rituraj shivem verma
नयी शुरूआत
नयी शुरूआत
Dr fauzia Naseem shad
बचा ले मुझे🙏🙏
बचा ले मुझे🙏🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
तेरे बिछड़ने पर लिख रहा हूं ग़ज़ल की ये क़िताब,
तेरे बिछड़ने पर लिख रहा हूं ग़ज़ल की ये क़िताब,
Sahil Ahmad
अपना अनुपम देश है, भारतवर्ष महान ( कुंडलिया )*
अपना अनुपम देश है, भारतवर्ष महान ( कुंडलिया )*
Ravi Prakash
झरोखा
झरोखा
Sandeep Pande
कब तक जीने के लिए कसमे खायें
कब तक जीने के लिए कसमे खायें
पूर्वार्थ
मुहब्बत में उड़ी थी जो ख़ाक की खुशबू,
मुहब्बत में उड़ी थी जो ख़ाक की खुशबू,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
चंद ख्वाब मेरी आँखों के, चंद तसव्वुर तेरे हों।
चंद ख्वाब मेरी आँखों के, चंद तसव्वुर तेरे हों।
Shiva Awasthi
सच बोलने वाले के पास कोई मित्र नहीं होता।
सच बोलने वाले के पास कोई मित्र नहीं होता।
Dr MusafiR BaithA
सीखने की, ललक है, अगर आपमें,
सीखने की, ललक है, अगर आपमें,
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
किये वादे सभी टूटे नज़र कैसे मिलाऊँ मैं
किये वादे सभी टूटे नज़र कैसे मिलाऊँ मैं
आर.एस. 'प्रीतम'
गर लिखने का सलीका चाहिए।
गर लिखने का सलीका चाहिए।
Dr. ADITYA BHARTI
जब मैं मंदिर गया,
जब मैं मंदिर गया,
नेताम आर सी
अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद
अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
2599.पूर्णिका
2599.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
"सागर तट पर"
Dr. Kishan tandon kranti
🙅झाड़ू वाली भाभी🙅
🙅झाड़ू वाली भाभी🙅
*Author प्रणय प्रभात*
मीठा गान
मीठा गान
rekha mohan
दोहे
दोहे
अशोक कुमार ढोरिया
प्रथम किरण नव वर्ष की।
प्रथम किरण नव वर्ष की।
Vedha Singh
कुछ तेज हवाएं है, कुछ बर्फानी गलन!
कुछ तेज हवाएं है, कुछ बर्फानी गलन!
Bodhisatva kastooriya
दूसरों को खरी-खोटी सुनाने
दूसरों को खरी-खोटी सुनाने
Dr.Rashmi Mishra
फिर पर्दा क्यूँ है?
फिर पर्दा क्यूँ है?
Pratibha Pandey
सुनो सुनाऊॅ॑ अनसुनी कहानी
सुनो सुनाऊॅ॑ अनसुनी कहानी
VINOD CHAUHAN
पायल
पायल
Dinesh Kumar Gangwar
छान रहा ब्रह्मांड की,
छान रहा ब्रह्मांड की,
sushil sarna
🩸🔅🔅बिंदी🔅🔅🩸
🩸🔅🔅बिंदी🔅🔅🩸
Dr. Vaishali Verma
कहता है सिपाही
कहता है सिपाही
Vandna thakur
Loading...