Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 May 2024 · 1 min read

प्यार विश्वाश है इसमें कोई वादा नहीं होता!

प्यार विश्वाश है इसमें कोई वादा नहीं होता!

प्यार कभी भी कम या ज्यादा नहीं होता!

बस थोड़ा सा प्यार चाहिए होता है हमें ,

किसी को तकलीफ़ पहुँचाना

हमारा इरादा नहीँ होता !!

-दिवाकर महतो
बुण्डू, राँची, (झारखण्ड )

32 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
आलेख - प्रेम क्या है?
आलेख - प्रेम क्या है?
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
हाथों में गुलाब🌹🌹
हाथों में गुलाब🌹🌹
Chunnu Lal Gupta
उदास देख कर मुझको उदास रहने लगे।
उदास देख कर मुझको उदास रहने लगे।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
पता ना था के दीवान पे दर्ज़ - जज़बातों  के नाम भी होते हैं 
पता ना था के दीवान पे दर्ज़ - जज़बातों  के नाम भी होते हैं 
Atul "Krishn"
💐💐मरहम अपने जख्मों पर लगा लेते खुद ही...
💐💐मरहम अपने जख्मों पर लगा लेते खुद ही...
Priya princess panwar
बाल कविता: मेरा कुत्ता
बाल कविता: मेरा कुत्ता
Rajesh Kumar Arjun
वो एक एहसास
वो एक एहसास
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
असुर सम्राट भक्त प्रह्लाद – आविर्भाव का समय – 02
असुर सम्राट भक्त प्रह्लाद – आविर्भाव का समय – 02
Kirti Aphale
मेरा देश एक अलग ही रसते पे बढ़ रहा है,
मेरा देश एक अलग ही रसते पे बढ़ रहा है,
नेताम आर सी
महबूबा से
महबूबा से
Shekhar Chandra Mitra
अगर ख़ुदा बनते पत्थर को तराश के
अगर ख़ुदा बनते पत्थर को तराश के
Meenakshi Masoom
" मैं तन्हा हूँ "
Aarti sirsat
क्या यह महज संयोग था या कुछ और.... (4)
क्या यह महज संयोग था या कुछ और.... (4)
Dr. Pradeep Kumar Sharma
प्रियवर
प्रियवर
लक्ष्मी सिंह
"कौन अपने कौन पराये"
Yogendra Chaturwedi
“गुप्त रत्न”नहीं मिटेगी मृगतृष्णा कस्तूरी मन के अन्दर है,
“गुप्त रत्न”नहीं मिटेगी मृगतृष्णा कस्तूरी मन के अन्दर है,
गुप्तरत्न
सही ट्रैक क्या है ?
सही ट्रैक क्या है ?
Sunil Maheshwari
मुकद्दर से ज्यादा
मुकद्दर से ज्यादा
rajesh Purohit
आदमियों की जीवन कहानी
आदमियों की जीवन कहानी
Rituraj shivem verma
*चार दिवस मेले में घूमे, फिर वापस घर जाना (गीत)*
*चार दिवस मेले में घूमे, फिर वापस घर जाना (गीत)*
Ravi Prakash
ये दुनिया भी हमें क्या ख़ूब जानती है,
ये दुनिया भी हमें क्या ख़ूब जानती है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
फिर क्यों मुझे🙇🤷 लालसा स्वर्ग की रहे?🙅🧘
फिर क्यों मुझे🙇🤷 लालसा स्वर्ग की रहे?🙅🧘
डॉ० रोहित कौशिक
ना तो हमारी तरह तुम्हें कोई प्रेमी मिलेगा,
ना तो हमारी तरह तुम्हें कोई प्रेमी मिलेगा,
Dr. Man Mohan Krishna
मेरा चाँद न आया...
मेरा चाँद न आया...
डॉ.सीमा अग्रवाल
3377⚘ *पूर्णिका* ⚘
3377⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
ये पल आएंगे
ये पल आएंगे
Srishty Bansal
शमशान और मैं l
शमशान और मैं l
सेजल गोस्वामी
जीवन पथ
जीवन पथ
Dr. Rajeev Jain
जानते वो भी हैं...!!
जानते वो भी हैं...!!
Kanchan Khanna
नारी को सदा राखिए संग
नारी को सदा राखिए संग
Ram Krishan Rastogi
Loading...