Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Dec 2023 · 1 min read

प्यार का तेरा सौदा हुआ।

प्यार का तेरा सौदा हुआ।
ओ तिरा वादा का क्या हुआ॥
जीत के प्यार का बाजी तू
बोल एसा क्या हासिल हुआ।
आज भी हम तराशे हुए
तेरा वो वादा का क्या हुआ॥
ओ वफ़ा वाले तू ही बता
तेरा ताख़ीर का क्या हुआ।
कत्ल ‘शागिर्द’ के हासी का
जिंदगी का जनाज़ा हुआ॥

228 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
अपने क़द से
अपने क़द से
Dr fauzia Naseem shad
कविता -
कविता - "करवा चौथ का उपहार"
Anand Sharma
शाम
शाम
Neeraj Agarwal
एक ही बात याद रखो अपने जीवन में कि ...
एक ही बात याद रखो अपने जीवन में कि ...
Vinod Patel
(3) कृष्णवर्णा यामिनी पर छा रही है श्वेत चादर !
(3) कृष्णवर्णा यामिनी पर छा रही है श्वेत चादर !
Kishore Nigam
अब छोड़ दिया है हमने तो
अब छोड़ दिया है हमने तो
gurudeenverma198
सबको   सम्मान दो ,प्यार  का पैगाम दो ,पारदर्शिता भूलना नहीं
सबको सम्मान दो ,प्यार का पैगाम दो ,पारदर्शिता भूलना नहीं
DrLakshman Jha Parimal
नफ़रतों की बर्फ़ दिल में अब पिघलनी चाहिए।
नफ़रतों की बर्फ़ दिल में अब पिघलनी चाहिए।
सत्य कुमार प्रेमी
परमेश्वर दूत पैगम्बर💐🙏
परमेश्वर दूत पैगम्बर💐🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
हिंदू सनातन धर्म
हिंदू सनातन धर्म
विजय कुमार अग्रवाल
प्रेम पथिक
प्रेम पथिक
Aman Kumar Holy
2318.पूर्णिका
2318.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
उत्तंग पर्वत , गहरा सागर , समतल मैदान , टेढ़ी-मेढ़ी नदियांँ , घने वन ।
उत्तंग पर्वत , गहरा सागर , समतल मैदान , टेढ़ी-मेढ़ी नदियांँ , घने वन ।
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
तन्हाई
तन्हाई
ओसमणी साहू 'ओश'
अभिव्यक्ति के प्रकार - भाग 03 Desert Fellow Rakesh Yadav
अभिव्यक्ति के प्रकार - भाग 03 Desert Fellow Rakesh Yadav
Desert fellow Rakesh
संगठन
संगठन
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
काले काले बादल आयें
काले काले बादल आयें
Chunnu Lal Gupta
~~🪆 *कोहबर* 🪆~~
~~🪆 *कोहबर* 🪆~~
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
शायरी
शायरी
Jayvind Singh Ngariya Ji Datia MP 475661
सुविचार
सुविचार
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
7) “आओ मिल कर दीप जलाएँ”
7) “आओ मिल कर दीप जलाएँ”
Sapna Arora
किये वादे सभी टूटे नज़र कैसे मिलाऊँ मैं
किये वादे सभी टूटे नज़र कैसे मिलाऊँ मैं
आर.एस. 'प्रीतम'
राख का ढेर।
राख का ढेर।
Taj Mohammad
"हकीकत"
Dr. Kishan tandon kranti
शीर्षक – रेल्वे फाटक
शीर्षक – रेल्वे फाटक
Sonam Puneet Dubey
"चित्तू चींटा कहे पुकार।
*प्रणय प्रभात*
*जेठ तपो तुम चाहे जितना, दो वृक्षों की छॉंव (गीत)*
*जेठ तपो तुम चाहे जितना, दो वृक्षों की छॉंव (गीत)*
Ravi Prakash
पिता
पिता
Swami Ganganiya
माँ की करते हम भक्ति,  माँ कि शक्ति अपार
माँ की करते हम भक्ति, माँ कि शक्ति अपार
Anil chobisa
*मूलांक*
*मूलांक*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Loading...