Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Feb 7, 2022 · 1 min read

प्यारा भारत

जहां की मिट्टी मिट्टी में
उपजे हीरा और मोती
जहां सालों भर मनाते
कोई- ना- कोई त्योहार
वही अपना प्यारा भारत ।

जहां पर रहते अनेकों धर्मो,
अनेक जाति- पाती के लोग
हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई
मनाते मिलजुलकर त्योहार
वही अपना प्यारा भारत ।

जहां की धन- दौलतो को
दुश्मनों ने लूटा बार – बार
फिर भी वह देश कहलाता
सोने की चिड़िया वाला देश
वही अपना प्यारा भारत ।

अमरेश कुमार वर्मा
जवाहर नवोदय विद्यालय बेगूसराय बिहार

1 Like · 183 Views
You may also like:
✍️इश्क़ के बीमार✍️
'अशांत' शेखर
घर
पंकज कुमार "कर्ण"
कारगिल फतह का २३वां वर्ष
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बुजुर्गों की उपेक्षा आखिर क्यों ?
Dr fauzia Naseem shad
'पिता' हैं 'परमेश्वरा........
Dr.Alpa Amin
प्रेम चिन्ह
sangeeta beniwal
मां ने।
Taj Mohammad
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
निभाता उम्रभर तेरा साथ
gurudeenverma198
✍️कल..आज..कल..✍️
'अशांत' शेखर
'कभी तो'
Godambari Negi
पिता
Neha Sharma
जिन्दगी में होता करार है।
Taj Mohammad
लाख सितारे ......
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
सोचो जो बेटी ना होती
लक्ष्मी सिंह
" नखरीली शालू "
Dr Meenu Poonia
एक दुखियारी माँ
DESH RAJ
तब मुझसे मत करना कोई सवाल तुम
gurudeenverma198
*विश्वरूप दिखलाओ (भक्ति गीत)*
Ravi Prakash
ख्वाब
Harshvardhan "आवारा"
- साहित्य मेरी जान -
bharat gehlot
*रठौंडा मन्दिर यात्रा*
Ravi Prakash
महिला काव्य
AMRESH KUMAR VERMA
खुदा मुझको मिलेगा न तो (जानदार ग़ज़ल)
रकमिश सुल्तानपुरी
प्यार का अलख
DESH RAJ
अब भी श्रम करती है वृद्धा / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
सच एक दिन
gurudeenverma198
गंगा दशहरा
श्री रमण 'श्रीपद्'
"योग करो"
Ajit Kumar "Karn"
ज़िन्दा रहना है तो जीवन के लिए लड़
Shivkumar Bilagrami
Loading...