Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Feb 2024 · 1 min read

प्यारा-प्यारा है यह पंछी

प्यारा प्यारा है यह पंछी, और पिंजड़ा धाम है
कैसे कह दूं मैं तुम से, परतंत्रता परिणाम है
जागे जागे रातभर जो, जुगनुओं की आस में
कह रहा चंदा अकेला, मिट गया मैं प्यास में
आई सांझ ढोने लगी, क्या जिंदगी पैगाम है

कैसे कह दूं मैं तुम से, परतंत्रता परिणाम है
भोर से अम्बर की बातें, खुद मेरी उड़ान है
है छटा मेरी क्षितिज पर, देख स्वेद हैरान है
सो रहा है सारा जग ही, स्वप्न तो अभिराम है
कैसे कह दूं मैं तुम से, परतंत्रता परिणाम है।।

प्यारा प्यारा है यह पंछी, और पिंजड़ा धाम है
कैसे कह दूं मैं तुम से, परतंत्रता परिणाम है।।
सूर्यकान्त

Language: Hindi
Tag: गीत
120 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तानाशाह के मन में कोई बड़ा झाँसा पनप रहा है इन दिनों। देशप्र
तानाशाह के मन में कोई बड़ा झाँसा पनप रहा है इन दिनों। देशप्र
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
औरत तेरी गाथा
औरत तेरी गाथा
विजय कुमार अग्रवाल
सताता है मुझको मेरा ही साया
सताता है मुझको मेरा ही साया
Madhuyanka Raj
"जूते"
Dr. Kishan tandon kranti
इतनी धूल और सीमेंट है शहरों की हवाओं में आजकल
इतनी धूल और सीमेंट है शहरों की हवाओं में आजकल
शेखर सिंह
धरती का बस एक कोना दे दो
धरती का बस एक कोना दे दो
Rani Singh
मुझे ऊंचाइयों पर देखकर हैरान हैं बहुत लोग,
मुझे ऊंचाइयों पर देखकर हैरान हैं बहुत लोग,
Ranjeet kumar patre
मन के सवालों का जवाब नही
मन के सवालों का जवाब नही
भरत कुमार सोलंकी
यहा हर इंसान दो चहरे लिए होता है,
यहा हर इंसान दो चहरे लिए होता है,
Happy sunshine Soni
शामें दर शाम गुजरती जा रहीं हैं।
शामें दर शाम गुजरती जा रहीं हैं।
शिव प्रताप लोधी
पराये सपने!
पराये सपने!
Saransh Singh 'Priyam'
फितरत
फितरत
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
मां की आँखों में हीरे चमकते हैं,
मां की आँखों में हीरे चमकते हैं,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
😊अनुभूति😊
😊अनुभूति😊
*प्रणय प्रभात*
भोला-भाला गुड्डा
भोला-भाला गुड्डा
Kanchan Khanna
तेरी गली में बदनाम हों, हम वो आशिक नहीं
तेरी गली में बदनाम हों, हम वो आशिक नहीं
The_dk_poetry
दोहा पंचक. . . नैन
दोहा पंचक. . . नैन
sushil sarna
*अध्याय 7*
*अध्याय 7*
Ravi Prakash
आतंकवाद
आतंकवाद
नेताम आर सी
आम की गुठली
आम की गुठली
Seema gupta,Alwar
“फेसबूक का व्यक्तित्व”
“फेसबूक का व्यक्तित्व”
DrLakshman Jha Parimal
याद दिल में जब जब तेरी आईं
याद दिल में जब जब तेरी आईं
krishna waghmare , कवि,लेखक,पेंटर
ऐ मौत
ऐ मौत
Ashwani Kumar Jaiswal
आप देखो जो मुझे सीने  लगाओ  तभी
आप देखो जो मुझे सीने लगाओ तभी
दीपक झा रुद्रा
अक्स आंखों में तेरी है प्यार है जज्बात में। हर तरफ है जिक्र में तू,हर ज़ुबां की बात में।
अक्स आंखों में तेरी है प्यार है जज्बात में। हर तरफ है जिक्र में तू,हर ज़ुबां की बात में।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
नादान प्रेम
नादान प्रेम
अनिल "आदर्श"
आँखें
आँखें
लक्ष्मी सिंह
3026.*पूर्णिका*
3026.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
' मौन इक सँवाद '
' मौन इक सँवाद '
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
मन करता है
मन करता है
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
Loading...