Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 May 2022 · 1 min read

पिता का सपना

***********************************************
पिता चाहते है कि समाज सक्षम हो।
समाज में हर एक बच्ची शिक्षित हो।।१।।

मैं! अपने प्यारे पिता की वागीशा हूॅं।
मैं! माता-पिता की बड़ी बालिका हूॅं।।२।।

मेरी हार्दिक इच्छा है- शिक्षिका बनू।
बड़ी होके मैं! ‘समाज-नायिका’ बनू।।३।।

बड़ी होके- समाज सुधारक बनना है।
पिता की चाहत! मुझे- पूर्ण करना है।।४।।

सावित्रीबाई फुले जैसी बनना है मुझे।
समाज में ज्ञान-ज्योत जलाना है मुझे।।५।।

समाज में कोई शिक्षा से वंचित ना हो।
समाज में कोई लड़की अनपढ़ ना हो।।६।।

यहीं बात- समाज को बतलाना है मुझे।
समाज में “शिक्षा-क्रांति” लाना है मुझे।।७।।

हर लड़की के माता-पिता से विनती है।
लड़की को पढ़ाओं, यहीं मेरी विनती है।।८।।

मेरे पिता ने- जो संस्कार दिया है मुझे।
बड़ी होके- समाज सेवा करना है मुझे।।९।।

पिता का सपना! साकार करना है मुझे।
लक्ष्य तो एक दिन! जरूर पाना है मुझे।।१०।।
***********************************
रचयिता: प्रभुदयाल रानीवाल==
===*उज्जैन*{मध्यप्रदेश}*=====
***********************************

10 Likes · 14 Comments · 1504 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
◆आज की बात◆
◆आज की बात◆
*Author प्रणय प्रभात*
क्या कहे हम तुमको
क्या कहे हम तुमको
gurudeenverma198
बड़ा सुंदर समागम है, अयोध्या की रियासत में।
बड़ा सुंदर समागम है, अयोध्या की रियासत में।
जगदीश शर्मा सहज
साजिशन दुश्मन की हर बात मान लेता है
साजिशन दुश्मन की हर बात मान लेता है
Maroof aalam
We just dream to  be rich
We just dream to be rich
Bhupendra Rawat
सच जिंदा रहे(मुक्तक)
सच जिंदा रहे(मुक्तक)
दुष्यन्त 'बाबा'
कुछ नमी
कुछ नमी
Dr fauzia Naseem shad
“I will keep you ‘because I prayed for you.”
“I will keep you ‘because I prayed for you.”
पूर्वार्थ
गांधी के साथ हैं हम लोग
गांधी के साथ हैं हम लोग
Shekhar Chandra Mitra
"परवाज"
Dr. Kishan tandon kranti
जब कभी  मिलने आओगे
जब कभी मिलने आओगे
Dr Manju Saini
-- मैं --
-- मैं --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
बापू तेरे देश में...!!
बापू तेरे देश में...!!
Kanchan Khanna
कूल नानी
कूल नानी
Neelam Sharma
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
आप लाख प्रयास कर लें। अपने प्रति किसी के ह्रदय में बलात् प्र
आप लाख प्रयास कर लें। अपने प्रति किसी के ह्रदय में बलात् प्र
ख़ान इशरत परवेज़
बाल बिखरे से,आखें धंस रहीं चेहरा मुरझाया सा हों गया !
बाल बिखरे से,आखें धंस रहीं चेहरा मुरझाया सा हों गया !
The_dk_poetry
धरातल की दशा से मुंह मोड़
धरातल की दशा से मुंह मोड़
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
जिज्ञासा
जिज्ञासा
Neeraj Agarwal
कवियों का अपना गम...
कवियों का अपना गम...
goutam shaw
खुदा कि दोस्ती
खुदा कि दोस्ती
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
हर एक शख्स से उम्मीद रखता है
हर एक शख्स से उम्मीद रखता है
कवि दीपक बवेजा
प्यार,इश्क ही इँसा की रौनक है
प्यार,इश्क ही इँसा की रौनक है
'अशांत' शेखर
* आ गया बसंत *
* आ गया बसंत *
surenderpal vaidya
पेट्रोल लोन के साथ मुफ्त कार का ऑफर (व्यंग्य कहानी)
पेट्रोल लोन के साथ मुफ्त कार का ऑफर (व्यंग्य कहानी)
Dr. Pradeep Kumar Sharma
जनहित (लघुकथा)
जनहित (लघुकथा)
Ravi Prakash
सुलगती आग हूॅ॑ मैं बुझी हुई राख ना समझ
सुलगती आग हूॅ॑ मैं बुझी हुई राख ना समझ
VINOD CHAUHAN
2923.*पूर्णिका*
2923.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कबीरपंथ से कबीर ही गायब / मुसाफ़िर बैठा
कबीरपंथ से कबीर ही गायब / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
*साहित्यिक बाज़ार*
*साहित्यिक बाज़ार*
Lokesh Singh
Loading...