Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Jul 2016 · 1 min read

पारस

पारस हैं माता पिता ,दें खुशियों की खान
उनसा इस संसार में ,कोई नहीं महान

पारस जिसको भी छुए वो सोना हो जाय
संगत का जैसा असर पाठ यही सिखलाय

पारस पत्थर की तरह ,रिश्ते औ परिवार
छू कर ही इनको हमें खुशियाँ मिले अपार

पारस सी बेटी मिली ,हमको इक उपहार
जिससे जगमग हो गया पूरा घर परिवार

डॉ अर्चना गुप्ता

Language: Hindi
6 Comments · 844 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr Archana Gupta
View all
You may also like:
I don't care for either person like or dislikes me
I don't care for either person like or dislikes me
Ankita Patel
जाति-धर्म
जाति-धर्म
लक्ष्मी सिंह
शहर की गर्मी में वो छांव याद आता है, मस्ती में बिता जहाँ बचप
शहर की गर्मी में वो छांव याद आता है, मस्ती में बिता जहाँ बचप
Shubham Pandey (S P)
#drarunkumarshastriblogger
#drarunkumarshastriblogger
DR ARUN KUMAR SHASTRI
स्त्री
स्त्री
Shweta Soni
जीवन से पहले या जीवन के बाद
जीवन से पहले या जीवन के बाद
Mamta Singh Devaa
माँ-बाप
माँ-बाप
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
आपकी सोच
आपकी सोच
Dr fauzia Naseem shad
पूछ लेना नींद क्यों नहीं आती है
पूछ लेना नींद क्यों नहीं आती है
पूर्वार्थ
ఉగాది
ఉగాది
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
ये अमलतास खुद में कुछ ख़ास!
ये अमलतास खुद में कुछ ख़ास!
Neelam Sharma
काले दिन ( समीक्षा)
काले दिन ( समीक्षा)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
सही पंथ पर चले जो
सही पंथ पर चले जो
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
■ शिक्षक दिवस की पूर्व संध्या पर एक विशेष कविता...
■ शिक्षक दिवस की पूर्व संध्या पर एक विशेष कविता...
*Author प्रणय प्रभात*
जब कभी प्यार  की वकालत होगी
जब कभी प्यार की वकालत होगी
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
💐अज्ञात के प्रति-34💐
💐अज्ञात के प्रति-34💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*खुश रहना है तो जिंदगी के फैसले अपनी परिस्थिति को देखकर खुद
*खुश रहना है तो जिंदगी के फैसले अपनी परिस्थिति को देखकर खुद
Shashi kala vyas
पल भर कि मुलाकात
पल भर कि मुलाकात
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
आसमां से आई
आसमां से आई
Punam Pande
💐💐दोहा निवेदन💐💐
💐💐दोहा निवेदन💐💐
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
मिला है जब से साथ तुम्हारा
मिला है जब से साथ तुम्हारा
Ram Krishan Rastogi
पतझड़ तेरी वंदना, तेरी जय-जयकार(कुंडलिया)
पतझड़ तेरी वंदना, तेरी जय-जयकार(कुंडलिया)
Ravi Prakash
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
बेवफाई मुझसे करके तुम
बेवफाई मुझसे करके तुम
gurudeenverma198
World Dance Day
World Dance Day
Tushar Jagawat
Kbhi asman me sajti bundo ko , barish kar jate ho
Kbhi asman me sajti bundo ko , barish kar jate ho
Sakshi Tripathi
अहसान का दे रहा हूं सिला
अहसान का दे रहा हूं सिला
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
महबूबा
महबूबा
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
कोई कैसे ही कह दे की आजा़द हूं मैं,
कोई कैसे ही कह दे की आजा़द हूं मैं,
manjula chauhan
2456.पूर्णिका
2456.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
Loading...