Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Jun 2016 · 1 min read

” पर्दा “

घर में है जब पर्दा , बाहर क्यों बेपर्दा …….
आखिर इंसान हूँ मै, देखता क्या न करता !!

तेरा महकना भी लाज़मी है वक्त के मुताबिक,
मेरे तो अपने हैं यहाँ तू ही तेरा करता धरता !!

वही चमड़ी वही खाल है तेरी ,
वही आँत है, वही बाल तेरा !

घर में है जब पर्दा , बाहर क्यों बेपर्दा……..
आखिर इंसान हूँ मैं, देखता क्या न करता !!

तेरी सोच को मैं सलाम करूँ ,
तेरे इस होड़ को मैं प्रणाम करूँ !

समझ नहीं आता , तुझे देख कर कभी
तुझ जैसे ही हो रहे तुझे देख कर सभी !!

घर में है जब पर्दा , बाहर क्यों बेपर्दा……..
आखिर इंसान हूँ मैं, देखता क्या न करता !!

रोक दे अभी छोड़ दे अभी ये जिस्म को दिखाना ये जिस्म को बहलाना,
दुनिया है ये दुनिया हर कोई नहीं एक जैसा ये तूने भी है माना !!

घर में है जब पर्दा , बाहर क्यों बेपर्दा……..
आखिर इंसान हूँ मैं, देखता क्या न करता !!

…….. बृज

Language: Hindi
Tag: कविता
2 Likes · 1 Comment · 635 Views
You may also like:
Tears in eyes
Buddha Prakash
कमबख़्त 'इश़्क
Shyam Sundar Subramanian
लगाया मैंने मोहर दिल पर गुलमोहर के लिए
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
मेरी आंखों में
Dr fauzia Naseem shad
जख्म
Anamika Singh
💐💐छोरी स्मार्ट बन री💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अविश्वास की बेड़ियां
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
जितना भी पाया है।
Taj Mohammad
अंतर्घट
Rekha Drolia
Writing Challenge- ईर्ष्या (Envy)
Sahityapedia
छत्रपति शिवाजी महाराज V/s संसार में तथाकथित महान समझे जाने...
Pravesh Shinde
रावण का तुम अंश मिटा दो,
कृष्णकांत गुर्जर
छत्रपति शिवजी महाराज के 392 वें जन्मदिवस के सुअवसर पर...
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
पिता पराए हो गए ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
फ़रियाद
VINOD KUMAR CHAUHAN
आरंभ
Saraswati Bajpai
■ कमाल है...!
*Author प्रणय प्रभात*
*रामपुर रियासत को कायम रखने का अंतिम प्रयास और रामभरोसे...
Ravi Prakash
बहार के दिन
shabina. Naaz
मातृशक्ति को नमन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
✍️हर लड़की के दिल में ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
यहां उनका भी दिल जोड़ दो/yahan unka bhi dil jod...
Shivraj Anand
प्यार
विशाल शुक्ल
बात यही है अब
gurudeenverma198
सुखला से सावन के आहत किसान बा।।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
गुजरात माडल ध्वस्त
Shekhar Chandra Mitra
एक सवाल
Taran Singh Verma
अमृत महोत्सव आजादी का
लक्ष्मी सिंह
छुपकर
Dr.sima
✍️आत्मपरीक्षण✍️
'अशांत' शेखर
Loading...