Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Mar 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-473💐

पयाम भेजकर भी वो क्यों हैं मचलते,
मेरा उन तक पहुँचना लुढ़कते लुढ़कते,
क्या कहें,हमें दिल के सौदे में धोखा मिला है,
अब तो चलेंगे सम्भलते-सम्भलते।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
Tag: Hindi Quotes, Quote Writer
10 Views
You may also like:
शिवरात्रि
शिवरात्रि
Satish Srijan
Writing Challenge- सौंदर्य (Beauty)
Writing Challenge- सौंदर्य (Beauty)
Sahityapedia
दीवारें खड़ी करना तो इस जहां में आसान है
दीवारें खड़ी करना तो इस जहां में आसान है
Charu Mitra
लीकछोड़ ग़ज़ल
लीकछोड़ ग़ज़ल
Dr MusafiR BaithA
खफा है जिन्दगी
खफा है जिन्दगी
Anamika Singh
राम बनो!
राम बनो!
Suraj kushwaha
मुक्तक
मुक्तक
Dr. Girish Chandra Agarwal
जिसे ये पता ही नहीं क्या मोहब्बत
जिसे ये पता ही नहीं क्या मोहब्बत
Ranjana Verma
प्लेटफॉर्म
प्लेटफॉर्म
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
स्पंदित अरदास!
स्पंदित अरदास!
Rashmi Sanjay
# पैगाम - ए - दिवाली .....
# पैगाम - ए - दिवाली .....
Chinta netam " मन "
मैं तुझमें तू मुझमें
मैं तुझमें तू मुझमें
Varun Singh Gautam
तुम्हारे सिवा और दिल में नहीं
तुम्हारे सिवा और दिल में नहीं
gurudeenverma198
अद्भुत सितारा
अद्भुत सितारा
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
कुछ बात करो, कुछ बात करो
कुछ बात करो, कुछ बात करो
Shyam Sundar Subramanian
मैंने तो ख़ामोश रहने
मैंने तो ख़ामोश रहने
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
*सिंह की सवारी (घनाक्षरी : सिंह विलोकित छंद)*
*सिंह की सवारी (घनाक्षरी : सिंह विलोकित छंद)*
Ravi Prakash
सबको हार्दिक शुभकामनाएं !
सबको हार्दिक शुभकामनाएं !
Prabhudayal Raniwal
✴️✴️प्रेम की राह पर-70✴️✴️
✴️✴️प्रेम की राह पर-70✴️✴️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मेरा बचपन
मेरा बचपन
Ankita Patel
ਵਾਲਾ ਕਰਕੇ ਮੁਕਰਨ ਵਾਲੇ
ਵਾਲਾ ਕਰਕੇ ਮੁਕਰਨ ਵਾਲੇ
Surinder blackpen
✍️चश्म में उठाइये ख़्वाब...
✍️चश्म में उठाइये ख़्वाब...
'अशांत' शेखर
*जीवन जीने की कला*
*जीवन जीने की कला*
Shashi kala vyas
शुभ धनतेरस
शुभ धनतेरस
Dr Archana Gupta
आज की तारीख हमें सिखा कर जा रही है कि आने वाली भविष्य की तार
आज की तारीख हमें सिखा कर जा रही है कि...
Seema Verma
एउटा मधेशी ठिटो
एउटा मधेशी ठिटो
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
चांद जमीं पर आकर उतर गया।
चांद जमीं पर आकर उतर गया।
Taj Mohammad
मोहब्ब्बत के रंग तुम पर बरसा देंगे आज,
मोहब्ब्बत के रंग तुम पर बरसा देंगे आज,
Shubham Pandey (S P)
■ कौशल उन्नयन
■ कौशल उन्नयन
*Author प्रणय प्रभात*
❤इस दिल में अरमान बहुत है 💙
❤इस दिल में अरमान बहुत है 💙
Khedu Bharti "Satyesh"
Loading...