Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Feb 2017 · 1 min read

@@ पंजाब मेरा -पार्ट 2 @@

@@ पंजाब मेरा -पार्ट 2 @@

मेरा पंजाब किसी से कम नहीं
इसी लिए मुझे किसी का गम नहीं
एक बार जिस ने इस धरती को चूमा
फिर उस को आता कहीं चैन नहीं !!

भांगड़ा, गिद्दे ने मचा के रख दी धूम
सारी दुनिया नाच रही मच गयी यारो धूम
आज हर शादी बयाह में हो रहा धूम धडाका
तभी तो हर फंक्शन में पंजाब है मन को भाता !!

दिल रखते हैं, दिल से बात करते हैं,तभी तो प्रेम करते हैं
इस लिए यारो हम आप सब को दिल में संजो के रखते हें
क्या कोई है दुनिया में ऐसा प्यारा प्रदेश यारो
जहाँ पर हम पंजाब के दिल वाले लोग नहीं बसते हैं !!

मेरा कहना मानो, एक बार मेरे पंजाब को जरूर जानो
दुनिया की प्रेम की तस्वीर वहीँ पर जा के बदल जाएगी
जहाँ जहाँ भी आग लगी है , दिलो में मेल भरा है
वहां जाकर मेरे कहना है”अजेत” आदत जरूर सुधर जाएगी !!

जय हो,,मेरा प्रेम पंजाब..,

अजीत तलवार
मेरठ

Language: Hindi
237 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
View all
You may also like:
■ आज भी...।
■ आज भी...।
*Author प्रणय प्रभात*
जनक छन्द के भेद
जनक छन्द के भेद
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
रचनात्मकता ; भविष्य की जरुरत
रचनात्मकता ; भविष्य की जरुरत
कवि अनिल कुमार पँचोली
"शिष्ट लेखनी "
DrLakshman Jha Parimal
हम यह सोच रहे हैं, मोहब्बत किससे यहाँ हम करें
हम यह सोच रहे हैं, मोहब्बत किससे यहाँ हम करें
gurudeenverma198
संस्कृति के रक्षक
संस्कृति के रक्षक
Dr. Pradeep Kumar Sharma
2849.*पूर्णिका*
2849.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
दो पल का मेला
दो पल का मेला
Harminder Kaur
वादा करती हूं मै भी साथ रहने का
वादा करती हूं मै भी साथ रहने का
Ram Krishan Rastogi
जय श्रीराम हो-जय श्रीराम हो।
जय श्रीराम हो-जय श्रीराम हो।
manjula chauhan
#justareminderekabodhbalak
#justareminderekabodhbalak
DR ARUN KUMAR SHASTRI
काल भैरव की उत्पत्ति के पीछे एक पौराणिक कथा भी मिलती है. कहा
काल भैरव की उत्पत्ति के पीछे एक पौराणिक कथा भी मिलती है. कहा
Shashi kala vyas
वो तीर ए नजर दिल को लगी
वो तीर ए नजर दिल को लगी
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
उससे मिलने को कहा देकर के वास्ता
उससे मिलने को कहा देकर के वास्ता
कवि दीपक बवेजा
आम आदमी
आम आदमी
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
भर गया होगा
भर गया होगा
Dr fauzia Naseem shad
जाति का बंधन
जाति का बंधन
Shekhar Chandra Mitra
*केवल पुस्तक को रट-रट कर, किसने प्रभु को पाया है (हिंदी गजल)
*केवल पुस्तक को रट-रट कर, किसने प्रभु को पाया है (हिंदी गजल)
Ravi Prakash
अंधा इश्क
अंधा इश्क
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
मैं और तुम-कविता
मैं और तुम-कविता
Shyam Pandey
राह से भटके लोग अक्सर सही राह बता जाते हैँ
राह से भटके लोग अक्सर सही राह बता जाते हैँ
DEVESH KUMAR PANDEY
उड़ने का हुनर आया जब हमें गुमां न था, हिस्से में परिंदों के
उड़ने का हुनर आया जब हमें गुमां न था, हिस्से में परिंदों के
Vishal babu (vishu)
सदा सदाबहार हिंदी
सदा सदाबहार हिंदी
goutam shaw
आजा माँ आजा
आजा माँ आजा
Basant Bhagawan Roy
'Here's the tale of Aadhik maas..' (A gold winning poem)
'Here's the tale of Aadhik maas..' (A gold winning poem)
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
जहाँ बचा हुआ है अपना इतिहास।
जहाँ बचा हुआ है अपना इतिहास।
Buddha Prakash
जहां आपका सही और सटीक मूल्यांकन न हो वहां  पर आपको उपस्थित ह
जहां आपका सही और सटीक मूल्यांकन न हो वहां पर आपको उपस्थित ह
Rj Anand Prajapati
*प्रश्नोत्तर अज्ञानी की कलम*
*प्रश्नोत्तर अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
‘ विरोधरस ‘---9. || विरोधरस के आलम्बनों के वाचिक अनुभाव || +रमेशराज
‘ विरोधरस ‘---9. || विरोधरस के आलम्बनों के वाचिक अनुभाव || +रमेशराज
कवि रमेशराज
सुनो पहाड़ की.....!!! (भाग - ६)
सुनो पहाड़ की.....!!! (भाग - ६)
Kanchan Khanna
Loading...