Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Feb 2023 · 1 min read

न रोजी न रोटी, हैं जीने के लाले।

गज़ल

122……122…..122…..122
न रोजी न रोटी, हैं जीने के लाले।
या अल्लाहताला, तूही अब बचाले।

है बैरन ये दुनियां, कहां जाएं यारो,
कोई भी तो आए, मुझे जो सॅंभाले।

किरण कोई उम्मीद, की भी नहीं है,
ॲंधेरों ने घेरा है, रूठे उजाले।

मेरा घर है जन्नत, तेरा है जहन्नुम,
बनाया जो तूने, उसी का मजाले।

नहीं चाय पीने के काबिल रहा तू,
वतन हैं सॅंभाले, यहां चाय वाले।

न आतंक दहशत तेरे काम आया,
अभी खुद को तू दूर जल्दी हटाले।

बहुत दूर सब तुझसे नापाक प्रेमी,
है बेहतर तू हो जा खुदा के हवाले।

……..✍️ सत्य कुमार प्रेमी

135 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
यह पृथ्वी रहेगी / केदारनाथ सिंह (विश्व पृथ्वी दिवस)
यह पृथ्वी रहेगी / केदारनाथ सिंह (विश्व पृथ्वी दिवस)
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
छायावाद के गीतिकाव्य (पुस्तक समीक्षा)
छायावाद के गीतिकाव्य (पुस्तक समीक्षा)
गुमनाम 'बाबा'
"किसी दिन"
Dr. Kishan tandon kranti
डर होता है
डर होता है
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
*रामलला का सूर्य तिलक*
*रामलला का सूर्य तिलक*
Ghanshyam Poddar
#प्रभात_चिन्तन
#प्रभात_चिन्तन
*प्रणय प्रभात*
*जब हो जाता है प्यार किसी से*
*जब हो जाता है प्यार किसी से*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
गुरु गोविंद सिंह जी की बात बताऊँ
गुरु गोविंद सिंह जी की बात बताऊँ
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
मेरे हिस्से में जितनी वफ़ा थी, मैंने लूटा दिया,
मेरे हिस्से में जितनी वफ़ा थी, मैंने लूटा दिया,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
करनी होगी जंग
करनी होगी जंग
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
Ab maine likhna band kar diya h,
Ab maine likhna band kar diya h,
Sakshi Tripathi
एक सत्य
एक सत्य
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
नयी नवेली
नयी नवेली
Ritu Asooja
23/68.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/68.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
*अफसर की बाधा दूर हो गई (लघु कथा)*
*अफसर की बाधा दूर हो गई (लघु कथा)*
Ravi Prakash
गज़ल सी कविता
गज़ल सी कविता
Kanchan Khanna
खुली आँख से तुम ना दिखती, सपनों में ही आती हो।
खुली आँख से तुम ना दिखती, सपनों में ही आती हो।
लालबहादुर चौरसिया लाल
जब जलियांवाला काण्ड हुआ
जब जलियांवाला काण्ड हुआ
Satish Srijan
क्या यह महज संयोग था या कुछ और.... (3)
क्या यह महज संयोग था या कुछ और.... (3)
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*Awakening of dreams*
*Awakening of dreams*
Poonam Matia
"सत्य अमर है"
Ekta chitrangini
सीता रामम
सीता रामम
Rj Anand Prajapati
आईना
आईना
Pushpa Tiwari
आओ गुफ्तगू करे
आओ गुफ्तगू करे
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
बिन बुलाए कभी जो ना जाता कही
बिन बुलाए कभी जो ना जाता कही
कृष्णकांत गुर्जर
कबीर ज्ञान सार
कबीर ज्ञान सार
भूरचन्द जयपाल
*गैरों सी! रह गई है यादें*
*गैरों सी! रह गई है यादें*
Harminder Kaur
कब मेरे मालिक आएंगे!
कब मेरे मालिक आएंगे!
Kuldeep mishra (KD)
हकीकत की जमीं पर हूँ
हकीकत की जमीं पर हूँ
VINOD CHAUHAN
न पाने का गम अक्सर होता है
न पाने का गम अक्सर होता है
Kushal Patel
Loading...