Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 May 2018 · 1 min read

न दुआएं असर करती दिखी

न दुआएं असर करती दिखी अब बुजुर्गों की

न चाहत रही तो किसी को पुराने तजुर्बों की

**
नहीं रहीं जरुरत छाया फलों से लदें पेड़ों की

घरों की क्यारियों में पंक्तियां कंटीले पेड़ों की

***
चहचहाती चिड़ियां हुई बातें बीते जमाने की

नहीं कोई सोच फुर्सत अब इनको बचाने की

***

पत्थरों के शहर में तो होड़ पत्थर उगाने की

ख्वाहिश हर किसी को पत्थरों से मारने की

***

हिम्मत नहीं बाकी रही सड़कों पर जाने की

कोई न देता दिलासा जीवित लौट आने की

***

तेजी से दूभर होती चली गई राह जीने की

स्वयं को मैला कर लिया गंगा भी मैली की

***

अदांज ऐसा नेकी कर दरिया में डालने की

निगाहें रहे हरदम पीठ में खंजर चलाने की

***

कुछ दाद तो देनी पड़ेगी उनके निशाने की

तीर छूटे नहीं खबर तो घायल हो जाने की

***

उन्हें बड़ी जल्दी पड़ी घर अपने बुलाने की

नई फैक्ट्री लगाना तो उन्हें पैसा बनाने की

***

अब उनको चिंता सताएं मेरे आशियाने की

थोड़ी तरकीबें निकाले इसको उजाड़ने की

***

-रामचन्द्र दीक्षित’अशोक’

Language: Hindi
265 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ज़िंदगी इतनी मुश्किल भी नहीं
ज़िंदगी इतनी मुश्किल भी नहीं
Dheerja Sharma
सतत् प्रयासों से करें,
सतत् प्रयासों से करें,
sushil sarna
गर्मी और नानी का घर
गर्मी और नानी का घर
कुमार
रूह का छुना
रूह का छुना
Monika Yadav (Rachina)
मोलभाव
मोलभाव
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*सादा जीवन उच्च विचार के धनी : लक्ष्मी नारायण अग्रवाल बाबा*
*सादा जीवन उच्च विचार के धनी : लक्ष्मी नारायण अग्रवाल बाबा*
Ravi Prakash
Ajeeb hai ye duniya.......pahle to karona se l ladh rah
Ajeeb hai ye duniya.......pahle to karona se l ladh rah
shabina. Naaz
हिन्दी
हिन्दी
manjula chauhan
* जगो उमंग में *
* जगो उमंग में *
surenderpal vaidya
दशमेश गुरु गोविंद सिंह जी
दशमेश गुरु गोविंद सिंह जी
Harminder Kaur
Dard-e-Madhushala
Dard-e-Madhushala
Tushar Jagawat
चलना हमारा काम है
चलना हमारा काम है
Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
"बात सौ टके की"
Dr. Kishan tandon kranti
मां कालरात्रि
मां कालरात्रि
Mukesh Kumar Sonkar
"दिल की तस्वीर अब पसंद नहीं।
*प्रणय प्रभात*
3165.*पूर्णिका*
3165.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
पहली बारिश..!
पहली बारिश..!
Niharika Verma
करूँ प्रकट आभार।
करूँ प्रकट आभार।
Anil Mishra Prahari
सकारात्मक सोच
सकारात्मक सोच
Dr fauzia Naseem shad
जंग अपनी आंखों से ओझल होते देखा है,
जंग अपनी आंखों से ओझल होते देखा है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
सम्बन्ध (नील पदम् के दोहे)
सम्बन्ध (नील पदम् के दोहे)
दीपक नील पदम् { Deepak Kumar Srivastava "Neel Padam" }
फ़ितरत को ज़माने की, ये क्या हो गया है
फ़ितरत को ज़माने की, ये क्या हो गया है
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
AGRICULTURE COACHING CHANDIGARH
AGRICULTURE COACHING CHANDIGARH
★ IPS KAMAL THAKUR ★
जबकि तड़पता हूँ मैं रातभर
जबकि तड़पता हूँ मैं रातभर
gurudeenverma198
हिन्दी
हिन्दी
लक्ष्मी सिंह
50….behr-e-hindi Mutqaarib musaddas mahzuuf
50….behr-e-hindi Mutqaarib musaddas mahzuuf
sushil yadav
जख्म भी रूठ गया है अबतो
जख्म भी रूठ गया है अबतो
सिद्धार्थ गोरखपुरी
प्रेम
प्रेम
बिमल तिवारी “आत्मबोध”
अदब से उतारा होगा रब ने ख्बाव को मेरा,
अदब से उतारा होगा रब ने ख्बाव को मेरा,
Sunil Maheshwari
इश्क बेहिसाब कीजिए
इश्क बेहिसाब कीजिए
साहित्य गौरव
Loading...