Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Dec 2022 · 1 min read

न्याय है इतना धीमा (कुंडलिया)

न्याय है इतना धीमा (कुंडलिया)
—————————————————
सीमा बाँधों समय की , जिसमें आए न्याय
चला मुकदमा साल नौ. यह वकील की आय
यह वकील की आय, रोज तारीखें आतीं
होता व्यक्ति निराश ,बीत सदियाँ- सी जातीं
कहते रवि कविराय , न्याय है इतना धीमा
देता धैर्य जवाब , कह रहा बाँधों सीमा
———————————————–
रचयिता : रवि प्रकाश ,बाजार सर्राफा,रामपुर (उत्तर प्रदेश)
मोबाइल 9997615451

122 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
"बेकसूर"
Dr. Kishan tandon kranti
विनती
विनती
Kanchan Khanna
"ଜୀବନ ସାର୍ଥକ କରିବା ପାଇଁ ସ୍ୱାଭାବିକ ହାର୍ଦିକ ସଂଘର୍ଷ ଅନିବାର୍ଯ।"
Sidhartha Mishra
2328.पूर्णिका
2328.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
पनघट और पगडंडी
पनघट और पगडंडी
Punam Pande
*नए वर्ष में स्वस्थ सभी हों, धन-मन से खुशहाल (गीत)*
*नए वर्ष में स्वस्थ सभी हों, धन-मन से खुशहाल (गीत)*
Ravi Prakash
तेरी याद आती है
तेरी याद आती है
Akash Yadav
रुख के दुख
रुख के दुख
Santosh kumar Miri
काफी है
काफी है
Basant Bhagawan Roy
सब्जी के दाम
सब्जी के दाम
Sushil Pandey
*इस कदर छाये जहन मे नींद आती ही नहीं*
*इस कदर छाये जहन मे नींद आती ही नहीं*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
खामोशी : काश इसे भी पढ़ लेता....!
खामोशी : काश इसे भी पढ़ लेता....!
VEDANTA PATEL
कब तक यही कहे
कब तक यही कहे
मानक लाल मनु
आंसूओं की नमी का क्या करते
आंसूओं की नमी का क्या करते
Dr fauzia Naseem shad
रमेशराज के 2 मुक्तक
रमेशराज के 2 मुक्तक
कवि रमेशराज
*
*"माँ वसुंधरा"*
Shashi kala vyas
#दोहा-
#दोहा-
*प्रणय प्रभात*
घमण्ड बता देता है पैसा कितना है
घमण्ड बता देता है पैसा कितना है
Ranjeet kumar patre
सब गुण संपन्य छी मुदा बहिर बनि अपने तालें नचैत छी  !
सब गुण संपन्य छी मुदा बहिर बनि अपने तालें नचैत छी !
DrLakshman Jha Parimal
एक तिरंगा मुझको ला दो
एक तिरंगा मुझको ला दो
लक्ष्मी सिंह
शुभ प्रभात मित्रो !
शुभ प्रभात मित्रो !
Mahesh Jain 'Jyoti'
मेरे जाने के बाद ,....
मेरे जाने के बाद ,....
ओनिका सेतिया 'अनु '
मेरा सपना
मेरा सपना
Adha Deshwal
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
गीत
गीत
Shiva Awasthi
सद्विचार
सद्विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
असली जीत
असली जीत
पूर्वार्थ
हर चेहरा है खूबसूरत
हर चेहरा है खूबसूरत
Surinder blackpen
भय भव भंजक
भय भव भंजक
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
फ़िलिस्तीन-इज़राइल संघर्ष: इसकी वर्तमान स्थिति और भविष्य में शांति और संप्रभुता पर वैश्विक प्रभाव
फ़िलिस्तीन-इज़राइल संघर्ष: इसकी वर्तमान स्थिति और भविष्य में शांति और संप्रभुता पर वैश्विक प्रभाव
Shyam Sundar Subramanian
Loading...