Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 May 2023 · 1 min read

नैनों में प्रिय तुम बसे….

कुछ दोहे…

नैनों में प्रिय तुम बसे, अधर तुम्हारा नाम।
एक इशारा तुम करो, चलूँ तुम्हारे धाम।।

समता उसके रूप की, मिले कहीं न अन्य।
निर्मल छवि मन आँककर, नैन हुए हैं धन्य।।

चाहे कितना हो सगा, देना नहीं उधार।
एक बार जो पड़ गयी, मिटती नहीं दरार।।

पुष्पवाण साधे कभी, दागे कभी गुलेल।
हाथों में डोरी लिए, विधना खेले खेल।।

प्रक्षालन नित कीजिए, चढ़े न मन पर मैल।
काबू में आता नहीं, अश्व अड़ा बिगड़ैल।।

कला काल से जुड़ करे, सार्थक जब संवाद।
कालजयी रचना बने, लिए सुघर बुनियाद।।

मन से मन का मेल तो, भले कहीं हो देह।
प्यास पपीहे की बुझे, पीकर स्वाती मेह।।

पड़ें नज़र के सामने, किस मुँह शोशेबाज।
झूठी शान बघारते, आए जिन्हें न लाज।।

अहंकार के वृक्ष पर, फलें नाश के फूल।
हित यदि अपना चाहते, काटो उसे समूल।।

गली-गली में देख लो, चलते सीना तान।
संस्कारों की धज्जियाँ, उड़ाते नौजवान।।

अपने अपने ना रहे, घर में रहकर गैर।
रिश्ते नाजुक मर रहे, कौन मनाए खैर ।।

© सीमा अग्रवाल
मुरादाबाद

Language: Hindi
1 Like · 299 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from डॉ.सीमा अग्रवाल
View all
You may also like:
पुण्य आत्मा
पुण्य आत्मा
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
मित्रो नमस्कार!
मित्रो नमस्कार!
अटल मुरादाबादी(ओज व व्यंग्य )
पर को दुख दे सुख जिन्हें, सुखी रहें वे लोग।
पर को दुख दे सुख जिन्हें, सुखी रहें वे लोग।
डॉ.सीमा अग्रवाल
चलो माना तुम्हें कष्ट है, वो मस्त है ।
चलो माना तुम्हें कष्ट है, वो मस्त है ।
Dr. Man Mohan Krishna
सम्बन्ध
सम्बन्ध
Dr. Kishan tandon kranti
बाट जोहती पुत्र का,
बाट जोहती पुत्र का,
sushil sarna
गुरु से बडा ना कोय🙏
गुरु से बडा ना कोय🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
प्यार में बदला नहीं लिया जाता
प्यार में बदला नहीं लिया जाता
Shekhar Chandra Mitra
मुझे फर्क पड़ता है।
मुझे फर्क पड़ता है।
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
जिंदगी भर ख्वाहिशों का बोझ तमाम रहा,
जिंदगी भर ख्वाहिशों का बोझ तमाम रहा,
manjula chauhan
हर खुशी पर फिर से पहरा हो गया।
हर खुशी पर फिर से पहरा हो गया।
सत्य कुमार प्रेमी
-- गुरु --
-- गुरु --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
24)”मुस्करा दो”
24)”मुस्करा दो”
Sapna Arora
संघर्ष
संघर्ष
विजय कुमार अग्रवाल
है कौन झांक रहा खिड़की की ओट से
है कौन झांक रहा खिड़की की ओट से
Amit Pathak
जय माता दी -
जय माता दी -
Raju Gajbhiye
ग़ज़ल _ यूँ नज़र से तुम हमको 🌹
ग़ज़ल _ यूँ नज़र से तुम हमको 🌹
Neelofar Khan
शीर्षक:-आप ही बदल गए।
शीर्षक:-आप ही बदल गए।
Pratibha Pandey
ज़रूर है तैयारी ज़रूरी, मगर हौसले का होना भी ज़रूरी
ज़रूर है तैयारी ज़रूरी, मगर हौसले का होना भी ज़रूरी
पूर्वार्थ
श्रावणी हाइकु
श्रावणी हाइकु
Dr. Pradeep Kumar Sharma
रुई-रुई से धागा बना
रुई-रुई से धागा बना
TARAN VERMA
मेरी बेटी बड़ी हो गई,
मेरी बेटी बड़ी हो गई,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
2728.*पूर्णिका*
2728.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
उन पुरानी किताबों में
उन पुरानी किताबों में
Otteri Selvakumar
अनमोल
अनमोल
Neeraj Agarwal
#शेर
#शेर
*प्रणय प्रभात*
कागज़ की नाव सी, न हो जिन्दगी तेरी
कागज़ की नाव सी, न हो जिन्दगी तेरी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
खुशनसीब
खुशनसीब
Bodhisatva kastooriya
बह्र 2212 122 मुसतफ़इलुन फ़ऊलुन काफ़िया -आ रदीफ़ -रहा है
बह्र 2212 122 मुसतफ़इलुन फ़ऊलुन काफ़िया -आ रदीफ़ -रहा है
Neelam Sharma
मैं भारत का जवान हूं...
मैं भारत का जवान हूं...
AMRESH KUMAR VERMA
Loading...