Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Apr 2023 · 1 min read

“नींद का देवता”

“नींद का देवता”
दादाजी अक्सर कहते रहे
दुःख से बढ़कर भूख
भूख से बढ़कर नींद
नींद का देवता तकिया,
जमीन हो, पलंग हो
चाहे रहे टूटी-रूठी खटिया।

10 Likes · 3 Comments · 392 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
श्रीराम मंगल गीत।
श्रीराम मंगल गीत।
Acharya Rama Nand Mandal
अंतिम पड़ाव
अंतिम पड़ाव
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
रिश्ते बनाना आसान है
रिश्ते बनाना आसान है
shabina. Naaz
#अज्ञानी_की_कलम
#अज्ञानी_की_कलम
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
हज़ारों साल
हज़ारों साल
abhishek rajak
बिन सूरज महानगर
बिन सूरज महानगर
Lalit Singh thakur
आप लाख प्रयास कर लें। अपने प्रति किसी के ह्रदय में बलात् प्र
आप लाख प्रयास कर लें। अपने प्रति किसी के ह्रदय में बलात् प्र
ख़ान इशरत परवेज़
#मुक्तक
#मुक्तक
*Author प्रणय प्रभात*
अफसोस
अफसोस
Dr. Kishan tandon kranti
Indulge, Live and Love
Indulge, Live and Love
Dhriti Mishra
প্রশ্ন - অর্ঘ্যদীপ চক্রবর্তী
প্রশ্ন - অর্ঘ্যদীপ চক্রবর্তী
Arghyadeep Chakraborty
दास्ताने-इश्क़
दास्ताने-इश्क़
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
बाहर-भीतर
बाहर-भीतर
Dhirendra Singh
हम कोई भी कार्य करें
हम कोई भी कार्य करें
Swami Ganganiya
आजा माँ आजा
आजा माँ आजा
Basant Bhagawan Roy
विचार और विचारधारा
विचार और विचारधारा
Shivkumar Bilagrami
मेहनती मोहन
मेहनती मोहन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मैं जाटव हूं और अपने समाज और जाटवो का समर्थक हूं किसी अन्य स
मैं जाटव हूं और अपने समाज और जाटवो का समर्थक हूं किसी अन्य स
शेखर सिंह
गुरु महादेव रमेश गुरु है,
गुरु महादेव रमेश गुरु है,
Satish Srijan
2259.
2259.
Dr.Khedu Bharti
तुम्हारी आँख से जब आँख मिलती है मेरी जाना,
तुम्हारी आँख से जब आँख मिलती है मेरी जाना,
SURYA PRAKASH SHARMA
*यदि उसे नजरों से गिराया नहीं होता*
*यदि उसे नजरों से गिराया नहीं होता*
sudhir kumar
रंग उकेरे तूलिका,
रंग उकेरे तूलिका,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
आहत बता गयी जमीर
आहत बता गयी जमीर
भरत कुमार सोलंकी
रिमझिम बारिश
रिमझिम बारिश
अनिल "आदर्श"
कोई टूटे तो उसे सजाना सीखो,कोई रूठे तो उसे मनाना सीखो,
कोई टूटे तो उसे सजाना सीखो,कोई रूठे तो उसे मनाना सीखो,
Ranjeet kumar patre
ज़िंदगी तेरी किताब में
ज़िंदगी तेरी किताब में
Dr fauzia Naseem shad
ऐ ज़ालिम....!
ऐ ज़ालिम....!
Srishty Bansal
किया आप Tea लवर हो?
किया आप Tea लवर हो?
Urmil Suman(श्री)
लाल फूल गवाह है
लाल फूल गवाह है
Surinder blackpen
Loading...