Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 May 2023 · 1 min read

ना मानी हार

ना मानी हार की जीवन का,
आग़ाज़ अभी तो बाकि है।
थक कर दो पल बैठे हैं मगर,
परवाज़ अभी तो बाकि है।
है साँझ ढली तो दूर तलक,
काली सी चादर फैलेगी।
पर सुबह किरण सूरज की फिर,
धरती पर आ कर खेलेंगी।
है टुकड़ा भर नापा, पूरा
आकाश अभी तो बाकि है।
कतरा कतरा बिखरेंगे पर,
ऊँचे ही उड़ते जायेंगे।
हर बार हौंसला परों में,
चोंच में उम्मीदें भर लाएंगे।
तिनकों से महल बनाने का,
अंदाज़ अभी तो बाकि है।
ना मानी हार की जीवन का,
आगाज़ अभी तो बाकि है।

Language: Hindi
1 Like · 167 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*सत्य की खोज*
*सत्य की खोज*
Dr Shweta sood
I can’t be doing this again,
I can’t be doing this again,
पूर्वार्थ
श्रेष्ठ बंधन
श्रेष्ठ बंधन
Dr. Mulla Adam Ali
I love to vanish like that shooting star.
I love to vanish like that shooting star.
Manisha Manjari
असर
असर
Shyam Sundar Subramanian
मुक्तक
मुक्तक
sushil sarna
कर्जा
कर्जा
RAKESH RAKESH
सुविचार
सुविचार
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
बिजली कड़कै
बिजली कड़कै
MSW Sunil SainiCENA
गुरुकुल भारत
गुरुकुल भारत
Sanjay ' शून्य'
हक़ीक़त ने
हक़ीक़त ने
Dr fauzia Naseem shad
शुभ रात्रि
शुभ रात्रि
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
मत हवा दो आग को घर तुम्हारा भी जलाएगी
मत हवा दो आग को घर तुम्हारा भी जलाएगी
Er. Sanjay Shrivastava
मारे ऊँची धाक,कहे मैं पंडित ऊँँचा
मारे ऊँची धाक,कहे मैं पंडित ऊँँचा
Pt. Brajesh Kumar Nayak
ସାଧନାରେ କାମନା ବିନାଶ
ସାଧନାରେ କାମନା ବିନାଶ
Bidyadhar Mantry
किस्मत की लकीरें
किस्मत की लकीरें
Dr Parveen Thakur
मेरी मुस्कान भी, अब नागवार है लगे उनको,
मेरी मुस्कान भी, अब नागवार है लगे उनको,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
Ab kya bataye ishq ki kahaniya aur muhabbat ke afsaane
Ab kya bataye ishq ki kahaniya aur muhabbat ke afsaane
गुप्तरत्न
हिन्दी दोहा- मीन-मेख
हिन्दी दोहा- मीन-मेख
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
सफर 👣जिंदगी का
सफर 👣जिंदगी का
डॉ० रोहित कौशिक
👍संदेश👍
👍संदेश👍
*Author प्रणय प्रभात*
जिस के पास एक सच्चा दोस्त है
जिस के पास एक सच्चा दोस्त है
shabina. Naaz
जिंदगी में कभी उदास मत होना दोस्त, पतझड़ के बाद बारिश ज़रूर आत
जिंदगी में कभी उदास मत होना दोस्त, पतझड़ के बाद बारिश ज़रूर आत
Pushpraj devhare
आहिस्था चल जिंदगी
आहिस्था चल जिंदगी
Rituraj shivem verma
3027.*पूर्णिका*
3027.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
ये तेरी यादों के साएं मेरे रूह से हटते ही नहीं। लगता है ऐसे
ये तेरी यादों के साएं मेरे रूह से हटते ही नहीं। लगता है ऐसे
Rj Anand Prajapati
* मुक्तक *
* मुक्तक *
surenderpal vaidya
पकड़ मजबूत रखना हौसलों की तुम
पकड़ मजबूत रखना हौसलों की तुम "नवल" हरदम ।
शेखर सिंह
.... कुछ....
.... कुछ....
Naushaba Suriya
तू  मेरी जान तू ही जिंदगी बन गई
तू मेरी जान तू ही जिंदगी बन गई
कृष्णकांत गुर्जर
Loading...