Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jan 25, 2017 · 1 min read

नारी शोंषण

लघुकथा

नारी शोंषण

– बीजेन्द्र जैमिनी

नारी शोंषण के खिलाफ समाज सेवा करने वाली सरोंज जोंर जोंर एक समारोह में भाषण दे रही है – हर आदमी नारी का शोंषण करता है….। कुछ बुर्जग पीछें बैठे आपस में कह रहे है। इस औरत को हम बहुत अच्छी तरह से जानते है। यह अपने पति महोदय को बोलने तक नहीं देती है। पुत्र वघु को इतना पीटा ,उस का गर्भ तक गिर गया। बेटी ने प्रेम विवाह क्या किया,उसे घर में घुसने नहीं देती है। अपनी सास को घर की नौकरानी बना रखा है। कोठी में नौकर की तरह एक टूटा-फूटा कमरा दे रखा है। सुसर को तो कोठी में धुसने नहीं देती है। क्या इसे नारी शोंषण के खिलाफ समाज सेवा कहँ सकते है।
वह समाज सेवी जोर-जोर से भाषण दे रही है। #

पताः हिन्दी भवन , 554- सी , सैक्टर-6 , पानीपत- हरियाणा-132103 भारत
मो.9355003609

117 Views
You may also like:
🥗फीका 💦 त्यौहार💥 (नाट्य रूपांतरण)
पाण्डेय चिदानन्द
गम आ मिले।
Taj Mohammad
आरज़ू है बस ख़ुदा
Dr. Pratibha Mahi
💐💐तुमसे दिल लगाना रास आ गया है💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
वृक्ष बोल उठे..!
Prabhudayal Raniwal
सितम पर सितम।
Taj Mohammad
ये हरियाली
Taran Verma
हम ना सोते हैं।
Taj Mohammad
"बेटी के लिए उसके पिता "
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
💐प्रेम की राह पर-29💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
If we could be together again...
Abhineet Mittal
परिंदों सा।
Taj Mohammad
* सत्य,"मीठा या कड़वा" *
मनोज कर्ण
इंसाफ के ठेकेदारों! शर्म करो !
ओनिका सेतिया 'अनु '
पुस्तक समीक्षा-"तारीखों के बीच" लेखक-'मनु स्वामी'
Rashmi Sanjay
एहसासात
Shyam Sundar Subramanian
आशाओं की बस्ती
सूर्यकांत द्विवेदी
नहीं बचेगी जल विन मीन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
* साहित्य और सृजनकारिता *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
आंखों में तुम मेरी सांसों में तुम हो
VINOD KUMAR CHAUHAN
ग्रीष्म ऋतु भाग ३
Vishnu Prasad 'panchotiya'
उन्हें क्या पता।
Taj Mohammad
नीति के दोहे
Rakesh Pathak Kathara
कुछ पल का है तमाशा
Dr fauzia Naseem shad
दिल हमारा।
Taj Mohammad
आन के जियान कके
अवध किशोर 'अवधू'
प्रेम
Vikas Sharma'Shivaaya'
गज़ल
Saraswati Bajpai
शिव शम्भु
अनामिका सिंह
"शौर्यम..दक्षम..युध्धेय, बलिदान परम धर्मा" अर्थात- बहादुरी वह है जो आपको...
Lohit Tamta
Loading...