Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Feb 2024 · 1 min read

नयी सुबह

रोज सुबह ही अपनी किरणों के,
दल – बल सहित,
पूर्व दिशा से आ जाता है सूरज,
सब कहते हैं नयी सुबह हो गयी,
मैं इधर – उधर देखती,
तलाश करती हूँ, कहाँ है नयी सुबह?
क्या सामने वाले मन्दिर के,
आकाश छूते, चमकते ऊँचे कलश पर,
घर की छत पर,
या घर के सामने, आगे – पीछे,
एक – दूसरे को मोड़ पर काटती गलियों में?
पर नहीं ; यहाँ तो सब पहले जैसा है,
वही सुबह – शाम,
वही धूप के‌ बनते – बिगड़ते साये,
वही गलियों में आते – जाते फेरीवाले,
सब्जी बेचती औरतें,
काम पर आते – जाते लोग,
गली में प्रेस करती कमला,
वही घर के भीतर माँ, दादी‌ और सब लोग
अपनी – अपनी दिनचर्या में व्यस्त
सब कुछ तो वही है,
कहीं भी, कुछ तो बदला नहीं,
फिर भी सोचती हूँ,
जब सबको कहते सुनती हूँ,
आखिर कहाँ है, कब होगी वह सुबह,
जिसे हम सब नयी सुबह कह सके..?

रचनाकार :- कंचन खन्ना,
मुरादाबाद, (उ०प्र०, भारत) ।
वर्ष :- २०१३.

Language: Hindi
92 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Kanchan Khanna
View all
You may also like:
#कविता
#कविता
*Author प्रणय प्रभात*
मार   बेरोजगारी   की   सहते  रहे
मार बेरोजगारी की सहते रहे
अभिनव अदम्य
मेरी धुन में, तेरी याद,
मेरी धुन में, तेरी याद,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
मोहब्बत से जिए जाना ज़रूरी है ज़माने में
मोहब्बत से जिए जाना ज़रूरी है ज़माने में
Johnny Ahmed 'क़ैस'
सबकी सलाह है यही मुॅंह बंद रखो तुम।
सबकी सलाह है यही मुॅंह बंद रखो तुम।
सत्य कुमार प्रेमी
मेरी आरज़ू है ये
मेरी आरज़ू है ये
shabina. Naaz
Unlocking the Potential of the LK99 Superconductor: Investigating its Zero Resistance and Breakthrough Application Advantages
Unlocking the Potential of the LK99 Superconductor: Investigating its Zero Resistance and Breakthrough Application Advantages
Shyam Sundar Subramanian
बेटी
बेटी
Neeraj Agarwal
"अमीर खुसरो"
Dr. Kishan tandon kranti
उजालों में अंधेरों में, तेरा बस साथ चाहता हूँ
उजालों में अंधेरों में, तेरा बस साथ चाहता हूँ
डॉ. दीपक मेवाती
🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀
🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
हर किसी का एक मुकाम होता है,
हर किसी का एक मुकाम होता है,
Buddha Prakash
जिंदगी तेरे सफर में क्या-कुछ ना रह गया
जिंदगी तेरे सफर में क्या-कुछ ना रह गया
VINOD CHAUHAN
बहाना मिल जाए
बहाना मिल जाए
Srishty Bansal
जो गिर गिर कर उठ जाते है, जो मुश्किल से न घबराते है,
जो गिर गिर कर उठ जाते है, जो मुश्किल से न घबराते है,
अनूप अम्बर
व्यक्ति को ह्रदय का अच्छा होना जरूरी है
व्यक्ति को ह्रदय का अच्छा होना जरूरी है
शेखर सिंह
मैं मांझी सा जिद्दी हूं
मैं मांझी सा जिद्दी हूं
AMRESH KUMAR VERMA
2458.पूर्णिका
2458.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
अगर हो दिल में प्रीत तो,
अगर हो दिल में प्रीत तो,
Priya princess panwar
शुभ संकेत जग ज़हान भारती🙏
शुभ संकेत जग ज़हान भारती🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
मुद्दा
मुद्दा
Paras Mishra
ज़िंदगी क्या है ?
ज़िंदगी क्या है ?
Dr fauzia Naseem shad
विज्ञान का चमत्कार देखो,विज्ञान का चमत्कार देखो,
विज्ञान का चमत्कार देखो,विज्ञान का चमत्कार देखो,
पूर्वार्थ
जिन्दगी ....
जिन्दगी ....
sushil sarna
//...महापुरुष...//
//...महापुरुष...//
Chinta netam " मन "
*थियोसोफी के अनुसार मृत्यु के बाद का जीवन*
*थियोसोफी के अनुसार मृत्यु के बाद का जीवन*
Ravi Prakash
ग़ज़ल - फितरतों का ढेर
ग़ज़ल - फितरतों का ढेर
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
जीवन में उन सपनों का कोई महत्व नहीं,
जीवन में उन सपनों का कोई महत्व नहीं,
Shubham Pandey (S P)
चाहता है जो
चाहता है जो
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
समझदारी का न करे  ,
समझदारी का न करे ,
Pakhi Jain
Loading...