Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Mar 2024 · 1 min read

नन्दी बाबा

भुला दिया है जीवन मेरा भूल गये हो मुझको तुम
मेरे हिसे का पीते दूध और बल दिखाते हो मुझको ।

खेत जोत कर हरा किया व भार तुमारा खीचा हैं
आधुनिक टैक्टर लाने से तुम भुलाते हो मुझको।

धर्म की बाते करते हो और गाय को माता बोले हों
नन्दी बाबा कहते थे आज तुम भगाते हो मुझको।

मेरी माँ ने दूध पिला करके तुम्हारे बच्चे पाले है
बचपन तो छीना है मेरा अब सताते हो मुझको।

चारागाह छीन लिया मेरा काट कर मास खाते हो
गो चर भूमि पर कर कब्जा बहार हटाते हो मुझको।

सरकारी लाइसेंस बनवा के बूचड़खाने चलवाते हो
भुला दिया है जीवन मेरा अब सताते हो मुझको।

लीलाधर चौबिसा (अनिल)
चित्तौड़गढ़ 9829246588

Language: Hindi
1 Like · 75 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
#लघुकविता-
#लघुकविता-
*प्रणय प्रभात*
*मेरा आसमां*
*मेरा आसमां*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
किताबों वाले दिन
किताबों वाले दिन
Kanchan Khanna
आज रविवार है -व्यंग रचना
आज रविवार है -व्यंग रचना
Dr Mukesh 'Aseemit'
सपना
सपना
ओनिका सेतिया 'अनु '
श्रोता के जूते
श्रोता के जूते
नंदलाल सिंह 'कांतिपति'
बिताया कीजिए कुछ वक्त
बिताया कीजिए कुछ वक्त
पूर्वार्थ
किसी से भी
किसी से भी
Dr fauzia Naseem shad
शक्ति शील सौंदर्य से, मन हरते श्री राम।
शक्ति शील सौंदर्य से, मन हरते श्री राम।
आर.एस. 'प्रीतम'
अहिल्या
अहिल्या
Dr.Priya Soni Khare
जीवन में संघर्ष सक्त है।
जीवन में संघर्ष सक्त है।
Omee Bhargava
ఓ యువత మేలుకో..
ఓ యువత మేలుకో..
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
कोई नाराज़गी है तो बयाँ कीजिये हुजूर,
कोई नाराज़गी है तो बयाँ कीजिये हुजूर,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
श्रम साधिका
श्रम साधिका
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
ফুলডুংরি পাহাড় ভ্রমণ
ফুলডুংরি পাহাড় ভ্রমণ
Arghyadeep Chakraborty
माँ
माँ
Arvina
तुम्हें लिखना आसान है
तुम्हें लिखना आसान है
Manoj Mahato
सब कुछ यूं ही कहां हासिल है,
सब कुछ यूं ही कहां हासिल है,
manjula chauhan
नज़र चुरा कर
नज़र चुरा कर
Surinder blackpen
"रात का मिलन"
Ekta chitrangini
ज़िन्दगी में हमेशा खुशियों की सौगात रहे।
ज़िन्दगी में हमेशा खुशियों की सौगात रहे।
Phool gufran
3317.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3317.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
शादी की उम्र नहीं यह इनकी
शादी की उम्र नहीं यह इनकी
gurudeenverma198
*सूरज ने क्या पता कहॉ पर, सारी रात बिताई (हिंदी गजल)*
*सूरज ने क्या पता कहॉ पर, सारी रात बिताई (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
ପ୍ରାୟଶ୍ଚିତ
ପ୍ରାୟଶ୍ଚିତ
Bidyadhar Mantry
इज़ाजत लेकर जो दिल में आए
इज़ाजत लेकर जो दिल में आए
शेखर सिंह
यह गलतफहमी कभी नहीं पालता कि,
यह गलतफहमी कभी नहीं पालता कि,
Jogendar singh
वाह नेता जी!
वाह नेता जी!
Sanjay ' शून्य'
आत्मबल
आत्मबल
Shashi Mahajan
*सुनो माँ*
*सुनो माँ*
sudhir kumar
Loading...