Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Nov 2023 · 1 min read

धैर्य और साहस

धैर्य और साहस के सामने भयंकर संकट भी धूए के बादल की तरह अपने आप उड़ जाते हैं।

1 Like · 89 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"अमरूद की महिमा..."
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
"आज और अब"
Dr. Kishan tandon kranti
बुला रही है सीता तुम्हारी, तुमको मेरे रामजी
बुला रही है सीता तुम्हारी, तुमको मेरे रामजी
gurudeenverma198
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
कौआ और कोयल (दोस्ती)
कौआ और कोयल (दोस्ती)
VINOD CHAUHAN
Wakt hi wakt ko batt  raha,
Wakt hi wakt ko batt raha,
Sakshi Tripathi
इधर उधर की हांकना छोड़िए।
इधर उधर की हांकना छोड़िए।
ओनिका सेतिया 'अनु '
17रिश्तें
17रिश्तें
Dr Shweta sood
खालीपन - क्या करूँ ?
खालीपन - क्या करूँ ?
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मतलबी इंसान हैं
मतलबी इंसान हैं
विक्रम कुमार
3322.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3322.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
नर को न कभी कार्य बिना
नर को न कभी कार्य बिना
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
गीत, मेरे गांव के पनघट पर
गीत, मेरे गांव के पनघट पर
Mohan Pandey
जिम्मेदारियाॅं
जिम्मेदारियाॅं
Paras Nath Jha
अलविदा
अलविदा
Dr fauzia Naseem shad
विश्वास करो
विश्वास करो
TARAN VERMA
*बनाता स्वर्ग में जोड़ी, सुना है यह विधाता है (मुक्तक)*
*बनाता स्वर्ग में जोड़ी, सुना है यह विधाता है (मुक्तक)*
Ravi Prakash
........?
........?
शेखर सिंह
मुक्तक
मुक्तक
महेश चन्द्र त्रिपाठी
इस धरातल के ताप का नियंत्रण शैवाल,पेड़ पौधे और समन्दर करते ह
इस धरातल के ताप का नियंत्रण शैवाल,पेड़ पौधे और समन्दर करते ह
Rj Anand Prajapati
"माँ की छवि"
Ekta chitrangini
बहुत हैं!
बहुत हैं!
Srishty Bansal
सूरज की किरणों
सूरज की किरणों
Sidhartha Mishra
बूँद बूँद याद
बूँद बूँद याद
Atul "Krishn"
सम पर रहना
सम पर रहना
Punam Pande
तुम ही सौलह श्रृंगार मेरे हो.....
तुम ही सौलह श्रृंगार मेरे हो.....
Neelam Sharma
तुम्हारी आँखें...।
तुम्हारी आँखें...।
Awadhesh Kumar Singh
जिंदगी बंद दरवाजा की तरह है
जिंदगी बंद दरवाजा की तरह है
Harminder Kaur
पागल प्रेम
पागल प्रेम
भरत कुमार सोलंकी
■चंदे का धंधा■
■चंदे का धंधा■
*प्रणय प्रभात*
Loading...