Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Nov 2023 · 1 min read

धन ….. एक जरूरत

शीर्षक – धन‌
विधा – हिन्दी
***********************
धन धन हम सभी की चाहत हैं।
सच और हकीकत आज यही हैं।
हम सबकी सुबह शाम धन से होती हैं।
मन‌ और मोह माया में हम रहते हैं।
छल फरेब और स्वार्थ धन से होते हैं।
दोस्त और दोस्ती का महत्व होता हैं।
सच यही हम सबको धन का लोभ होता हैं।
हां हम सभी की जिंदगी अब धन के हाथ हैं।
मानवता रिश्ते नाते सच आज सब धन हैं।
चाहत और मोहब्बत में धन जरूरत हैं।
धैर्य और संयम धर्म-कर्म हम भूले हैं।
धन आज का सच और हकीकत हैं।
धन की सोच सही बस एक-दूसरे के सहयोगी हैं।
आओ हम सब धन के साथ इंसानियत समझते हैं।
*********************
नीरज अग्रवाल चंदौसी उ.प्र

Language: Hindi
181 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ग़ज़ल/नज़्म - उसकी तो बस आदत थी मुस्कुरा कर नज़र झुकाने की
ग़ज़ल/नज़्म - उसकी तो बस आदत थी मुस्कुरा कर नज़र झुकाने की
अनिल कुमार
सपनों का राजकुमार
सपनों का राजकुमार
Dr. Pradeep Kumar Sharma
गुलों पर छा गई है फिर नई रंगत
गुलों पर छा गई है फिर नई रंगत "कश्यप"।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
नींद आती है......
नींद आती है......
Kavita Chouhan
प्यासा मन
प्यासा मन
नेताम आर सी
नीति अनैतिकता को देखा तो,
नीति अनैतिकता को देखा तो,
Er.Navaneet R Shandily
#लघुकथा
#लघुकथा
*Author प्रणय प्रभात*
*25_दिसंबर_1982: : प्रथम पुस्तक
*25_दिसंबर_1982: : प्रथम पुस्तक "ट्रस्टीशिप-विचार" का विमोचन
Ravi Prakash
साहित्यकार ओमप्रकाश वाल्मीकि का परिचय।
साहित्यकार ओमप्रकाश वाल्मीकि का परिचय।
Dr. Narendra Valmiki
कुछ मुक्तक...
कुछ मुक्तक...
डॉ.सीमा अग्रवाल
दिल कहता है खुशियाँ बांटो
दिल कहता है खुशियाँ बांटो
Harminder Kaur
** दूर कैसे रहेंगे **
** दूर कैसे रहेंगे **
Chunnu Lal Gupta
नीलम शर्मा ✍️
नीलम शर्मा ✍️
Neelam Sharma
2932.*पूर्णिका*
2932.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
आप वक्त को थोड़ा वक्त दीजिए वह आपका वक्त बदल देगा ।।
आप वक्त को थोड़ा वक्त दीजिए वह आपका वक्त बदल देगा ।।
लोकेश शर्मा 'अवस्थी'
तहरीर
तहरीर
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बस जाओ मेरे मन में , स्वामी होकर हे गिरधारी
बस जाओ मेरे मन में , स्वामी होकर हे गिरधारी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
इश्क में आजाद कर दिया
इश्क में आजाद कर दिया
Dr. Mulla Adam Ali
जिंदगी
जिंदगी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
पराया हुआ मायका
पराया हुआ मायका
विक्रम कुमार
व्यक्ति के शब्द ही उसके सोच को परिलक्षित कर देते है शब्द आपक
व्यक्ति के शब्द ही उसके सोच को परिलक्षित कर देते है शब्द आपक
Rj Anand Prajapati
धैर्य.....….....सब्र
धैर्य.....….....सब्र
Neeraj Agarwal
हंसवाहिनी दो मुझे, बस इतना वरदान।
हंसवाहिनी दो मुझे, बस इतना वरदान।
Jatashankar Prajapati
"अदा"
Dr. Kishan tandon kranti
फिर से तन्हा ek gazal by Vinit Singh Shayar
फिर से तन्हा ek gazal by Vinit Singh Shayar
Vinit kumar
सैनिक
सैनिक
Mamta Rani
Hard work is most important in your dream way
Hard work is most important in your dream way
Neeleshkumar Gupt
आपकी आहुति और देशहित
आपकी आहुति और देशहित
Mahender Singh
माँ...की यादें...।
माँ...की यादें...।
Awadhesh Kumar Singh
(21)
(21) "ऐ सहरा के कैक्टस ! *
Kishore Nigam
Loading...