Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Jun 2023 · 1 min read

दोहे- उदास

24- हिंदी बिषय – उदास

#राना उस दिन ही सदा , होता बहुत उदास |
अपने जाते दूर जब , छलिया आते पास ||

मन उदास #राना अगर , कलम पकड़ लो हाथ |
कागज पर लेखन करो , शब्द सदा दें साथ ||

#राना जब संघर्ष हो , होना नहीं उदास |
सदा रहे शुभकामना , अपनों की तब पास ||

कौन सदा ही खुश दिखे , जरा कीजिए खोज |
कारण यहाँ उदास के , #राना आते रोज ||

मत उदास को देखकर , करिए और उदास |
#राना ऐसा बोलिए , खुशियाँ आएँ पास ||
***

© राजीव नामदेव “राना लिधौरी” टीकमगढ़
संपादक “आकांक्षा” पत्रिका
संपादक- ‘अनुश्रुति’ त्रैमासिक बुंदेली ई पत्रिका
जिलाध्यक्ष म.प्र. लेखक संघ टीकमगढ़
अध्यक्ष वनमाली सृजन केन्द्र टीकमगढ़
नई चर्च के पीछे, शिवनगर कालोनी,
टीकमगढ़ (मप्र)-472001
मोबाइल- 9893520965
Email – ranalidhori@gmail.com

1 Like · 359 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
View all
You may also like:
"जीवन"
Dr. Kishan tandon kranti
प्रेम भरी नफरत
प्रेम भरी नफरत
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
मेला एक आस दिलों🫀का🏇👭
मेला एक आस दिलों🫀का🏇👭
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
तेरे मेरे बीच में
तेरे मेरे बीच में
नेताम आर सी
*मंज़िल पथिक और माध्यम*
*मंज़िल पथिक और माध्यम*
Lokesh Singh
2463.पूर्णिका
2463.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
#दोहा
#दोहा
*Author प्रणय प्रभात*
*अनमोल हीरा*
*अनमोल हीरा*
Sonia Yadav
गीत
गीत
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
ईश ......
ईश ......
sushil sarna
मैं होता डी एम
मैं होता डी एम"
Satish Srijan
बड़बोले बढ़-बढ़ कहें, झूठी-सच्ची बात।
बड़बोले बढ़-बढ़ कहें, झूठी-सच्ची बात।
डॉ.सीमा अग्रवाल
सच तो यह है
सच तो यह है
Dr fauzia Naseem shad
यह कैसा है धर्म युद्ध है केशव
यह कैसा है धर्म युद्ध है केशव
VINOD CHAUHAN
Not a Choice, But a Struggle
Not a Choice, But a Struggle
पूर्वार्थ
सच तो रंग काला भी कुछ कहता हैं
सच तो रंग काला भी कुछ कहता हैं
Neeraj Agarwal
आँखें शिकायत करती हैं गमों मे इस्तेमाल हमारा ही क्यों करते ह
आँखें शिकायत करती हैं गमों मे इस्तेमाल हमारा ही क्यों करते ह
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
कविता: एक राखी मुझे भेज दो, रक्षाबंधन आने वाला है।
कविता: एक राखी मुझे भेज दो, रक्षाबंधन आने वाला है।
Rajesh Kumar Arjun
* सत्य पथ पर *
* सत्य पथ पर *
surenderpal vaidya
मुझे फर्क पड़ता है।
मुझे फर्क पड़ता है।
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
प्रेम पर शब्दाडंबर लेखकों का / MUSAFIR BAITHA
प्रेम पर शब्दाडंबर लेखकों का / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
बस जाओ मेरे मन में
बस जाओ मेरे मन में
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
*अध्याय 3*
*अध्याय 3*
Ravi Prakash
क्या बचा  है अब बदहवास जिंदगी के लिए
क्या बचा है अब बदहवास जिंदगी के लिए
सिद्धार्थ गोरखपुरी
माँ गौरी रूपेण संस्थिता
माँ गौरी रूपेण संस्थिता
Pratibha Pandey
*असर*
*असर*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
वज़्न -- 2122 2122 212 अर्कान - फ़ाइलातुन फ़ाइलातुन फ़ाइलुन बह्र का नाम - बह्रे रमल मुसद्दस महज़ूफ़
वज़्न -- 2122 2122 212 अर्कान - फ़ाइलातुन फ़ाइलातुन फ़ाइलुन बह्र का नाम - बह्रे रमल मुसद्दस महज़ूफ़
Neelam Sharma
उदास नहीं हूं
उदास नहीं हूं
shabina. Naaz
जब लोग आपसे खफा होने
जब लोग आपसे खफा होने
Ranjeet kumar patre
छोड़ कर महोब्बत कहा जाओगे
छोड़ कर महोब्बत कहा जाओगे
Anil chobisa
Loading...