Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Aug 2022 · 1 min read

देश के लिए है अब जीना मरना

देश के लिए है अब जीना मरना
काम सभी को है ये महान करना

हर दिल में देश भक्ति की उठे लहर
गूंजे चारों ओर जय हिन्द का स्वर
जोश देशवासियों में हमें भरना
काम सभी को है ये महान करना

दुश्मन को चैन नहीं लेने देंगे
गिन गिन के बदला ज़ुल्मों का लेंगे
चालों से अरि की हमें नहीं डरना
काम सभी को है ये महान करना

मन से नफ़रत दूर भगानी होगी
सबके दिल में प्रीत जगानी होगी
मध्य बहे सबके समता का झरना
काम सभी को है ये महान करना

डॉ अर्चना गुप्ता
27-08-2022

Language: Hindi
2 Likes · 2 Comments · 412 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr Archana Gupta
View all
You may also like:
पश्चाताप
पश्चाताप
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बारिश में नहा कर
बारिश में नहा कर
A🇨🇭maanush
👍👍
👍👍
*प्रणय प्रभात*
सुन कुछ मत अब सोच अपने काम में लग जा,
सुन कुछ मत अब सोच अपने काम में लग जा,
Anamika Tiwari 'annpurna '
अच्छा होगा
अच्छा होगा
Madhuyanka Raj
कहाँ चल दिये तुम, अकेला छोड़कर
कहाँ चल दिये तुम, अकेला छोड़कर
gurudeenverma198
वह लोग जिनके रास्ते कई होते हैं......
वह लोग जिनके रास्ते कई होते हैं......
कवि दीपक बवेजा
*खोटा था अपना सिक्का*
*खोटा था अपना सिक्का*
Poonam Matia
स्त्री:-
स्त्री:-
Vivek Mishra
*होली*
*होली*
Dr. Priya Gupta
3154.*पूर्णिका*
3154.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
बिखर गई INDIA की टीम बारी बारी ,
बिखर गई INDIA की टीम बारी बारी ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
कठपुतली की क्या औकात
कठपुतली की क्या औकात
Satish Srijan
सुप्रभात
सुप्रभात
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
बेहद मुश्किल हो गया, सादा जीवन आज
बेहद मुश्किल हो गया, सादा जीवन आज
महेश चन्द्र त्रिपाठी
हम भी जिंदगी भर उम्मीदों के साए में चलें,
हम भी जिंदगी भर उम्मीदों के साए में चलें,
manjula chauhan
"मकड़जाल"
Dr. Kishan tandon kranti
आंखें मेरी तो नम हो गई है
आंखें मेरी तो नम हो गई है
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
एक शेर
एक शेर
Ravi Prakash
जीवन के गीत
जीवन के गीत
Harish Chandra Pande
मुसाफिर हैं जहां में तो चलो इक काम करते हैं
मुसाफिर हैं जहां में तो चलो इक काम करते हैं
Mahesh Tiwari 'Ayan'
दो नयनों की रार का,
दो नयनों की रार का,
sushil sarna
ये दुनिया है कि इससे, सत्य सुना जाता नहीं है
ये दुनिया है कि इससे, सत्य सुना जाता नहीं है
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
याद तुम्हारी......।
याद तुम्हारी......।
Awadhesh Kumar Singh
जीवन दया का
जीवन दया का
Dr fauzia Naseem shad
कृष्ण वंदना
कृष्ण वंदना
लक्ष्मी सिंह
गाछ सभक लेल
गाछ सभक लेल
DrLakshman Jha Parimal
न जाने ज़िंदगी को क्या गिला है
न जाने ज़िंदगी को क्या गिला है
Shweta Soni
*गुड़िया प्यारी राज दुलारी*
*गुड़िया प्यारी राज दुलारी*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
इसलिए कठिनाईयों का खल मुझे न छल रहा।
इसलिए कठिनाईयों का खल मुझे न छल रहा।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Loading...