Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Jul 2016 · 1 min read

देखकर एक झोपड़ी आँख मेरी रो पड़ी

देखकर एक झोपड़ी आँख मेरी रो पड़ी !

सो रहा था एक बच्चा माँ की अपनी गोद में !
गोद में गुदड़ी नहीं थी साड़ी लिपटी तोद में !!

कह रही थीं माँ की ममता लाल मेरा सो गया !
दिन में अच्छा था भला रात में क्या हो गया !!

कोई तो उसको जगा दे आई कैसी ए घड़ी !
देखकर एक झोपड़ी आँख मेरी रो पड़ी !!

ठंड थीं उस दिन भयानक तन में कपड़े थे नहीं !
रब ना दे ऐसी गरीबी आँख मुझसे कह रही !!

सो गया भूखा वो बच्चा भाइयों के साथ में !
साथ में था माँ का आँचल टुकड़ा रोटी हाथ में !!

वोट पाकर खुश है नेता बात करता है बड़ी !
देखकर एक झोपड़ी आँख मेरी रो पड़ी !!

Language: Hindi
Tag: कविता
2 Comments · 510 Views
You may also like:
शिक्षा पर अशिक्षा हावी होना चाहती है - डी के...
डी. के. निवातिया
नवनिर्माण करें राष्ट्र का, करें श्रेष्ठ अपना अर्पण
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
महाराणा प्रताप
jaswant Lakhara
नाम
Ranjit Jha
✍️इतिहास के पन्नो पर...
'अशांत' शेखर
जानें किसकी तलाश है।
Taj Mohammad
प्रेम एक अनुभव
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
सांसें कम पड़ गई
Shriyansh Gupta
एक - एक दिन करके यूं ही
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
दुःस्वप्न
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हरि चंदन बन जाये मिट्टी
Dr. Sunita Singh
“ मिलकर सबके साथ चलो “
DrLakshman Jha Parimal
✍️ज़िंदगी का उसूल ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
मेरे दिल को
Shivkumar Bilagrami
मांग रहा हूँ जिनसे उत्तर...
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
जले स्नेह का दीप।
लक्ष्मी सिंह
माँ तुम सबसे खूबसूरत हो
Anamika Singh
वन्दे मातरम वन्दे मातरम
Swami Ganganiya
" मां भवानी "
Dr Meenu Poonia
✍️✍️प्रेम की राह पर-67✍️✍️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
थकते नहीं हो क्या
सूर्यकांत द्विवेदी
*फिर बंसी बजाओ रे (भक्ति गीतिका )*
Ravi Prakash
अन्तिम करवट
Prakash juyal 'मुकेश'
मुझे पूजो मत, पढ़ो!
Shekhar Chandra Mitra
मेरा बचपन
Alok Vaid Azad
याद तू मुझको
Dr fauzia Naseem shad
मेरी (अपनी) आवाज़
Shivraj Anand
मय है मीना है साकी नहीं है।
सत्य कुमार प्रेमी
"एक नज़्म लिख रहा हूँ"
Lohit Tamta
उम्मीद है कि वो मुझे .....।
J_Kay Chhonkar
Loading...