Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Nov 2016 · 1 min read

दुर्मिल सवैया :– चित चोर बड़ा बृजभान सखी – भाग -3

दुर्मिल सवैया :–
चितचोर बड़ा घनश्याम सखी – भाग-3
मात्राभार :–
112 112 112 112
112 112 112 112

जब कंस वधे सब काम सधा
नर नार सभी जयकार कियो !

नर रूप धरे भगवान यहां
जग तारण को अवतार लियो !

जलपान किया प्रभु नें रति का
सब नार अभागन तार दियो !

मन में उमड़े व्यभिचार हरो
भर दो उंजियार हरो तम को !

Language: Hindi
1 Like · 1 Comment · 841 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
जो चाहने वाले होते हैं ना
जो चाहने वाले होते हैं ना
पूर्वार्थ
रिश्तों की सिलाई अगर भावनाओ से हुई हो
रिश्तों की सिलाई अगर भावनाओ से हुई हो
शेखर सिंह
तू आ पास पहलू में मेरे।
तू आ पास पहलू में मेरे।
Taj Mohammad
अभिनेता वह है जो अपने अभिनय से समाज में सकारात्मक प्रभाव छोड
अभिनेता वह है जो अपने अभिनय से समाज में सकारात्मक प्रभाव छोड
Rj Anand Prajapati
जिंदगी
जिंदगी
विजय कुमार अग्रवाल
सुखी को खोजन में जग गुमया, इस जग मे अनिल सुखी मिला नहीं पाये
सुखी को खोजन में जग गुमया, इस जग मे अनिल सुखी मिला नहीं पाये
Anil chobisa
3178.*पूर्णिका*
3178.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
किसी भी चीज़ की आशा में गवाँ मत आज को देना
किसी भी चीज़ की आशा में गवाँ मत आज को देना
आर.एस. 'प्रीतम'
जल बचाओ , ना बहाओ
जल बचाओ , ना बहाओ
Buddha Prakash
मिले तो हम उनसे पहली बार
मिले तो हम उनसे पहली बार
DrLakshman Jha Parimal
अन्त हुआ आतंक का,
अन्त हुआ आतंक का,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मौसम बेईमान है – प्रेम रस
मौसम बेईमान है – प्रेम रस
Amit Pathak
नमामि राम की नगरी, नमामि राम की महिमा।
नमामि राम की नगरी, नमामि राम की महिमा।
डॉ.सीमा अग्रवाल
"तलाश उसकी रखो"
Dr. Kishan tandon kranti
कर्मठ राष्ट्रवादी श्री राजेंद्र कुमार आर्य
कर्मठ राष्ट्रवादी श्री राजेंद्र कुमार आर्य
Ravi Prakash
Samay  ka pahiya bhi bada ajib hai,
Samay ka pahiya bhi bada ajib hai,
Sakshi Tripathi
हुकुम की नई हिदायत है
हुकुम की नई हिदायत है
Ajay Mishra
बेरोजगारी।
बेरोजगारी।
Anil Mishra Prahari
हर सुबह जन्म लेकर,रात को खत्म हो जाती हूं
हर सुबह जन्म लेकर,रात को खत्म हो जाती हूं
Pramila sultan
अहा! जीवन
अहा! जीवन
Punam Pande
फिर एक समस्या
फिर एक समस्या
A🇨🇭maanush
ढूॅ॑ढा बहुत हमने तो पर भगवान खो गए
ढूॅ॑ढा बहुत हमने तो पर भगवान खो गए
VINOD CHAUHAN
🏞️प्रकृति 🏞️
🏞️प्रकृति 🏞️
Vandna thakur
वह मुस्कुराते हुए पल मुस्कुराते
वह मुस्कुराते हुए पल मुस्कुराते
goutam shaw
आजकल स्याही से लिखा चीज भी,
आजकल स्याही से लिखा चीज भी,
Dr. Man Mohan Krishna
कुछ समय पहले
कुछ समय पहले
Shakil Alam
कभी-कभी दिल को भी अपडेट कर लिया करो .......
कभी-कभी दिल को भी अपडेट कर लिया करो .......
shabina. Naaz
अगहन कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली एकादशी को उत्पन्ना एकादशी के
अगहन कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली एकादशी को उत्पन्ना एकादशी के
Shashi kala vyas
#गजल:-
#गजल:-
*Author प्रणय प्रभात*
स्वप्न लोक के वासी भी जगते- सोते हैं।
स्वप्न लोक के वासी भी जगते- सोते हैं।
महेश चन्द्र त्रिपाठी
Loading...